जानें बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्शन का अंतर

by Naina Chauhan
virus

जब भी किसी को सर्दी या फ्लू होता है तो अक्सर लोग एंटीबायोटिक्स का सेवन करते हैं। वहीं एंटीबायोटिक्स, अगर निर्धारित और सही तरीके से लिया जाए, तो आमतौर पर बैक्टीरिया को मार सकते हैं लेकिन वे सर्दी और फ्लू जैसे वायरस के खिलाफ बेकार हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि बैक्टीरियल इंफेक्शन और वायरल इंफेक्शन में एक बड़ा फर्क होता है। वहीं लोगों को इन दोनों के बीच के फर्क और उसके ट्रीटमेंट के बारे में पता नहीं होता। तो चलिए जानते हैं बैक्टीरिया और वायरस से फैलने वाले इंफेक्शन का बीच का फर्क।

इसे भी पढ़ें: सुबह नाश्ते में खाएं 1 सेब और 1 कटोरी ओट्स, दिल की बीमारियां रहेंगी दूर

बैक्टीरिया –           

अक्सर जब भी लोग बीमार होते हैं तो बैक्टीरिया और वायरस कई सामान्य संक्रमण यानी कि इंफेक्शन पैदा कर सकते हैं। लेकिन लोगों को इन दोनों के बीच का अंतर नहीं पता। बैक्टीरिया छोटे सूक्ष्मजीव हैं, जो एक एकल कोशिका से बने होते हैं। बैक्टीरिया लगभग हर कल्पनीय वातावरण में रह सकते हैं, जिसमें मानव शरीर भी शामिल है। वहीं केवल कुछ ही बैक्टीरिया मनुष्यों में संक्रमण का कारण बनते हैं। इन बैक्टीरिया को रोगजनक बैक्टीरिया  के रूप में जाना जाता है।

वायरस-

Loading...
Virus

वायरस बैक्टीरिया से भी छोटे होते हैं। बैक्टीरिया की तरह, ये भी बहुत विविध हैं और इनके भी विभिन्न प्रकार के आकार और विशेषताएं हैं। वायरस खास बात यह होती है कि ये परजीवी होते हैं। इसका मतलब है कि उन्हें जीवित कोशिकाओं या ऊतक की आवश्यकता होती है, जिसमें वो खुद को विकसित करते हैं। वायरस आपके शरीर के कोशिकाओं पर आक्रमण कर सकते हैं, आपके कोशिकाओं के घटकों को बढ़ाने और गुणा करने के लिए उपयोग कर सकते हैं। कुछ वायरस अपने जीवन चक्र के भाग के रूप में होस्ट कोशिकाओं को भी मार देते हैं।

बैक्टीरियल इंफेक्शन और वायरल इंफेक्शन के बीच का फर्क

बैक्टीरियल इंफेक्शन क्या होता है-

बैक्टीरिया हर जगह पाया जाता है। ये हवा,पानी, पौधों और जानवरों में पाए जाते हैं। अधिकांश बैक्टीरिया, जिनमें हमारी आंतों में रहने वाले बैक्टीरिया भी शामिल हैं, वो गुड बैक्टीरिया कहलाते हैं।

बैक्टीरिया के संक्रमण कैसे फैलते हैं?

कई जीवाणु संक्रमण संक्रामक होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकते हैं। इसके कई तरीके हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

इसे भी पढ़ें: बच्चों में क्यों बड़ रहा है दिल की बीमारी का खतरा

-संक्रमित व्यक्तियों के निकट संपर्क में आ कर।

-किसी संक्रमित व्यक्ति के शरीर के तरल पदार्थ के साथ संपर्क, विशेष रूप से यौन संपर्क के बाद, या जब कोई संक्रमित व्यक्ति खांसता या छींकता है।

-गर्भावस्था या जन्म के दौरान मां से बच्चे तक संचरण

-दूषित सतहों के संपर्क में आना, जैसे कि दरवाजा या नल के हैंडल

– चेहरे, नाक या मुंह को छूना से

-एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने के अलावा, जीवाणु संक्रमण एक संक्रमित कीट के काटने से भी फैल सकता है। इसके अतिरिक्त, दूषित भोजन या पानी का सेवन करने से भी संक्रमण हो सकता है।

कुछ आम बैक्टीरियल इंफेक्शन, जिनके लिए एंटीबायोटिक्स काम करते हैं

-खराब गला

-टीबी

-सूखी खांसी

-मूत्र पथ के संक्रमण

-बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस

-लाइम की बीमारी

वायरल इंफेक्शन कैसे फैलता है?

बैक्टीरियल संक्रमणों की तरह, कई वायरल संक्रमण भी संक्रामक हैं। वे एक ही तरह से या कई तरीकों से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकते हैं। जैसे कि

इसे भी पढ़ें: हार्ट अटैक आने के कारण, जानें कब और किस स्थिति में पड़ता है दिल का दौरा

-एक ऐसे व्यक्ति के साथ निकट संपर्क में आना, जिसे वायरल संक्रमण है

-एक वायरल संक्रमण वाले व्यक्ति के शरीर के तरल पदार्थ के साथ संपर्क

-दूषित सतहों के संपर्क में आना

आम वायरल इंफेक्शन कौन से हैं?

वायरल संक्रमण के कुछ उदाहरणों में शामिल हैं:

-इंफ्लुएंजा

-सामान्य जुखाम

वायरल आंत्रशोथ

चेचक

खसरा

वायरल मैनिंजाइटिस

मानव इम्यूनोडिफ़िशिएंसी वायरस (एचआईवी)

वायरल हेपेटाइटिस

जीका वायरस

क्या वायरल संक्रमण का इलाज एंटीबायोटिक्स से किया जा सकता है?

-एंटीवायरल ड्रग्स, जो आमतौर पर वायरस को नष्ट नहीं करते हैं, बल्कि इसके विकास होने से रोक सकते हैं। मेडिकल न्यूज टुडे के अनुसार एंटीवायरल भी कुछ बीमारियों जैसे हर्पस सिंप्लेक्स वायरस, फ्लू और दाद के इलाज के लिए उपलब्ध हैं।

-एंटीबायोटिक्स वायरस के खिलाफ प्रभावी नहीं हैं। इसलिए रोग नियंत्रण केंद्र और अन्य स्वास्थ्य संगठन एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग नहीं करने की सलाह देते हैं जब तक कि एक जीवाणु संक्रमण के स्पष्ट सबूत न मिल जाएं।

-अधिकांश वायरल संक्रमण उपचार के बिना अपने दम पर हल करते हैं, इसलिए किसी भी उपचार का उद्देश्य आमतौर पर दर्द, बुखार और खांसी जैसे लक्षणों से राहत प्रदान करना है।

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.