Home फिटनेस थायराइड से छुटकारा चाहते हैं तो रोजाना करें उज्जायी प्राणायाम

थायराइड से छुटकारा चाहते हैं तो रोजाना करें उज्जायी प्राणायाम

by Darshana Bhawsar
yoga asana

ऐसा शायद कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जिसने थायराइड के बारे में न सुना हो क्योंकि यह आज के समय की बहुत आम बीमारी हो गई है, इस बीमारी के चलते या तो व्यक्ति का वजन बढ़ता है या कम होता है। आज हम जानेंगे थायराइड से छुटकारा पाने के लिए बेहद फायदेमंद है उज्जायी प्राणायाम के बारे मे इससे लंबी आयु होती है और सेहत भी अच्छी रहती है।

गोमुखासन से गठिया को कहिए ना

पहले बात करते हैं थायराइड है क्या?:

थायराइड एक तरह का ग्लैंड है जो कि बटरफ्लाइ के आकार का होता है और हमारे गले मे रहता है। इस ग्लैंड से जरूरी हार्मोन्स निकलता रहता है। लेकिन आजकल के वातावरण और गलत खानपान की वजह से इस हार्मोन का स्त्राव असंतुलित हो जाता है। मतलब किसी के शरीर मे ये हार्मोन ज्यादा बनने लगता है और किसी के शरीर मे ये हार्मोन कम बनता है। जब यह हार्मोन ज्यादा बनता है तो हाइपर थायराइड होता है और जब यह हार्मोन कम बनता है तो हाइपो थायराइड होता है। जब हाइपर थायराइड होता है तो इंसान का मेटाबोलिस्म बढ़ जाता है और वो पतला होने लगता है। और हाइपर थायराइड के कारण इंसान का मेटोबोलिस्म दर कम हो जाती है और वो मोटा होने लगता है।

दिमाग को तेज करने के लिए करें ये 3 योगासन

समान्यतः लोगो को हयपो थायराइड की शिकायत ही होती है। इसमें इंसान व्यायाम भी करे तब भी उसका मेटाबोलिस्म नॉर्मल इंसान से कम ही रहता है। एक नॉर्मल इंसान सोते हुए भी अपनी ऊर्जा खर्च करता है जबकि हयपो थायराइड का मरीज अपनी ऊर्जा को खर्च नहीं कर पाता । ऐसे में क्या किया जाए? इसका उपाय है अपनी थायराइड ग्लैंड को एक्टिव करना। और थायराइड ग्लैंड आप उज्जायी प्राणायाम करें ।

लॉकडाउन से हो रहे तनाव को दूर करने के लिए लें योग और प्राणायाम की मदद

उज्जायी प्राणायाम को करने की विधि:

  1. उज्जायी प्राणायाम को करने के लिए आप सबसे पहले एक सहज आसान मे बैठ जाएँ।
  2. लंबी गहरी साँस लें, जब आप साँस लें तो अपने गले मे से एक ध्वनि निकले और जब आप साँस छोड़े तो भी एक ध्वनि आपके गले में से निकले। जब आप गले से ध्वनि निकालते हैं तो थायराइड ग्लैंड एक्टिवेट होती है। और हार्मोन का स्त्राव सुचारु होने लगता है।

उज्जायी प्राणायाम के पहले आ कुछ योगासन भी करें तो ज्यादा फायदा होता है। हलासन जैसे योगासन थायराइड के इलाज़ के लिए अच्छे आसन होते हैं।

Read More Article On Health News In Hindi