Home फिटनेसयोग मुहासों के काले दाग से मुक्ति दिलाये योग

मुहासों के काले दाग से मुक्ति दिलाये योग

by Darshana Bhawsar
diabetes

हर कोई व्यक्ति चाहता है कि वो आकर्षित दिखे और सुन्दर दिखे। लेकिन आज के समय में ऐसी सुंदरता और बिना कील-मुहासों और दाग-धब्बों वाली त्वचा कम ही लोगों को नसीब होती है। लेकिन ऐसा नहीं है कि इस प्रकार की त्वचा की समस्याओं से छुटकारा नहीं पाया जा सकता। इन समस्यायों से आसानी से छुटकारा मिल सकता है। लेकिन इसके लिए आपको कुछ परिवर्तनों को अपनाना होगा। अब बात आती है कि ऐसा क्या किया जाये कि कील, मुहासों और उनसे त्वचा पर होने वाले दागों से छुटकारा पाया जा सके। इसके लिए एक तो आप योग का सहारा ले सकते हैं या दूसरा आप किसी आयुर्वेदिक नुस्खे का सहारा ले सकते हैं। अगर योग का सहारा लेते हैं तो योग के लाभ बहुत हैं।

इसे भी पढ़ें: नींद के लिए योग करना है सबसे अच्छा उपाय

आज के समय योग एक ऐसा वरदान है जिससे हर बीमारी पर काबू पाना मुमकिन है। और त्वचा से सम्बंधित बीमारियाँ तो बहुत ही जल्दी दूर की जा सकती है। त्वचा सम्बंधित बिमारियों के लिए अगर इन नीचे दिए गए योग में से कोई एक भी योग किया जाता है तो उससे त्वचा सम्बंधित सारी परेशानियाँ दूर हो जाएँगी साथ में शरीर के सभी विकार दूर होंगे।

इसे भी पढ़ें: योगासन से करें हर रोग का इलाज

कील मुहासों और उनके दागों से छुटकारा पाने के लिए ये योग अपनाएं:

1.सूर्य नमस्कार

2. शंख प्रक्षालन

3. शीतली और शीतकारी प्राणायाम

4. त्रिकोणासन

Yoga and meditation

5. बालासन

6. हलासन

7. सर्वांगासन

इसे भी पढ़ें: पिम्पल्स के दाग से हैं परेशान, अल्टरनेट डे अपनाएं ये उपाय

ये सभी आसन त्वचा से सम्बंधित बिमारियों को दूर करने के लिए बहुत ही उपयोगी हैं अगर इनको रोज प्रातः काल उठकर किया जाये तो इनका असर दोगुना हो जाता है। इतना  ही नहीं इनसे शरीर में स्फूर्ति आती है और मानसिक तनाव भी दूर होता है। इनमें से सबसे महत्वपूर्ण योग है सूर्य नमस्कार जिसके फायदे अनगिनत है। अगर कोई व्यक्ति सूर्य नमस्कार करता है तो उसके जीवन में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता रहता है।

इसे भी पढ़ें: तुलसी के फायदे

सूर्य नमस्कार के साथ-साथ बताये गए सभी आसन भी बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। वैसे भी योग के लाभ इतने अधिक हैं कि उनको उँगलियों पर गिनती करना संभव नहीं है। जिस व्यक्ति को योग का महत्व समझ आ जाता है वह सम्पूर्ण जीवन के लिए योग से जुड़ जाता है।