Home फिटनेस खूबसूरत फिगर के लिए करें ये योगासन

खूबसूरत फिगर के लिए करें ये योगासन

by Mahima
yoga for good figure

अच्छा स्वास्थ्य किसे कहते हैं? अच्छे स्वास्थ्य वाले व्यक्ति का शरीर हल्का और मन प्रसन्न रहता है। अच्छे स्वास्थ्य की हालत में आदमी उछलता, कूदता, गाने गाता, मुस्कुराता और खूब हंसता है। हर कार्य फुर्ती से करता है। घोड़े बेचकर गहरी नींद सोता है। ज़िंदादिल और हौसले वाला होता है। इस सुख को भोगने के लिए शरीर के वज़न का ख़ास ख्याल रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: दिल की बीमारी को जड़ से खत्म करता है योग

तिर्यक कटिचक्रासन

इस आसन से पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियों मजबूत होती हैं, कमर के आसपास की चर्बी घटती है और कमर पतली होती है।

कटिचक्रासन

इस आसन से ऊपरी पीठ, कंधे, गर्दन, कमर और हिप्स शेप में आते हैं। इसके अभ्यास से पीठ के ऊपरी हिस्से और गर्दन के दर्द से भी राहत मिलती है।

इसे भी पढ़ें: इन आसन की मदद से करें अपने मेटाबॉलिज्म को संतुलित

सीधे खड़े हो जाएं। आपके पैरों में कंधे जितना गैप हो। अपनी बाज़ुएं कंधे के स्तर तक साइड से उठाएं (तस्वीर में देखें)। सांस छोड़ें और कमर से दाईं तरफ मुड़ना शुरू करें। अपनी दाईं हथेली अपने बाएं कंधे के ऊपर रखें और अपनी बाईं कलाई को अपनी पीठ के निचले हिस्से पर जमाएं। तस्वीर में ध्यान से देखें, इस वक्त आप इस मुद्रा में हैं।

नमस्कार आसन

इस आसन से हिप्स और टांग शेप में आ जाते हैं। इससे शरीर के निचले हिस्से में रक्त परिसंचरण में भी सुधार आता है।

अपने कंधे की चौड़ाई जितने पैर खोलकर खड़े हो जाएं। अपने हाथ जोड़ लें,जैसे किसी को नमस्कार करते हैं। गहरी सांस लें और अपने शरीर का पूरा वज़न अपने पैरों पर डाल दें। इसे कहते हैं स्कैवटिंग पोजिशन। इस वक्त आप अपनी जांघों के बीच नमस्ते मुद्रा में बैठे हैं। अपनी गर्दन और पीठ सीधी रखें। अपनी कोहनियों से दोनों तरफ जांघों को धक्का मारें। इस दबाव से जांघों के बीच और जगह बन जाएगी। नमस्कार करते हुए ही बाहें आगे की तरफ खींचे।

इसे भी पढ़ें: किस प्रकार से करें पद्मासन योग

द्रुत उत्कटासन

इस आसन से आपके हिप्स शेप में आते हैं और टांगें मजबूत होती हैं। इससे आपकी सहनशक्ति में भी सुधार आता है।

नमस्ते मुद्रा में सीधे खड़े हो जाएं। आपके पैरों के बीच कंधे की चौड़ाई जितना गैप होना चाहिए। गहरी सांस लें, अपने हाथ ऊपर उठाएं। इस वक्त आप सिर के ऊपर हाथ जोड़कर खड़े हैं। अब सांस छोड़ें और धीरे-धीरे नीचे बैठने की कोशिश करें। अपने शरीर का सारा वज़न अपने पैरों पर डाल दें। उतना ही नीचे बैठिए, जितना आपको आरामदायक लगे। सांस लेते हुए खड़े हो जाएं। फिर सांस छोड़ते हुए दोबारा नमस्ते मुद्रा में बैठ जाएं। यह पहला राउंड है। इसके 5-7 राउंड्स करें।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.