Loading...

दीपावली को ऐसे मनाएं और भी बेहतर

by Mahima
diwali

दीपावली एक ऐसा त्यौहार जिसे भारत वर्ष में खूब धूम धाम से मनाया जाता है। दीपावली आने से कई दिन पहले
ही लोग इसकी तैयारी में जुट जाते है, घर की साज सजा के लिए बाजार से खरीदारी करने लगते है, नए नए कपड़ें,
मिठाइयां,सजावट के समान आदि के लिए बाजार से खरीदारी में व्यस्त हो जाते हैं । अपने घरो की साफ़ सफाई
के बाद अपने घर को तरह तरह की लड़ियों, झालरों तथा सुन्दर रंगोलियों से सजाते हैं, परन्तु दीपावली की शॉपिंग
के दौरान अक्सर हम यह भूल जाते हैं कि जो उत्पाद हम खरीद रहे हैं वह हमारे पर्यावरण पर असर डाल सकते
हैं। अतः अपने अपने आस पास के पर्यावरण को साफ़ सुथरा रखने के लिए दीपावली के दौरान शॉपिंग करते समय
हमे कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखना चहिये। आइये जानते है किन बातों का ध्यान रख कर आप अपनी दीपावली
और पर्यावरण को बेहतर बना सकते हैं

इसे भी पढ़ें: इस दिवाली डायबिटीज रोगी खाएं जमकर मिठाई, नहीं बढ़ेगी शुगर!

कपड़े या जूट के बैग का प्रयोग : अधिकांशतः देखा गया है की खरीदारी के दौरान हम प्लास्टिक बेगों का प्रयोग
करते हैं जो की पर्यावरण की दृस्टि से हानिकारक साबित हो सकता है। प्लास्टिक मिट्टी में मिलने के बाद भी
नस्ट नहीं होती जो की मिट्टी के उपजाऊपन को नुकसान पहुंचाता है। अतः हम दीपावली की खरीदारी के दौरान
कपड़े या जूट के बने बैग का प्रयोग करके अपने पर्यावरण को साफ सुथरा रखने में छोटा सा योगदान दे सकते हैं।
एलईडी लाइट्स का प्रयोग: दीपावली पर अपने घर को इलेक्ट्रिक लाइट्स से सजाने के स्थान पर दीयों से जगमगाएँ,
इससे न केवल बिजली की बचत होगी बल्कि जगमगाते और टिमटिमाते दिए आपका मन भी मोह लेंगें। यदि आप
इलेक्ट्रिक लाइट्स लगाने के ही इक्छुक हैं तो एलईडी लाइट्स का प्रयोग सबसे बेहतर होगा, इससे आप 80 प्रतिशत
तक बिजली की बचत कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: बालों में देसी घी लगाने के यह होते हैं फायदे

बाजार की मिठाइयों की खरीदारी से बचें : दीपावली के मौके पर मिठाइयों की दुकान रंग बिरंगी अनेकों प्रकार की
स्वादिस्ट मिठाइयों से सजी दिखती है, परन्तु ऐसे मौकों पर दुकानदार इनको बनाने में अनेकों प्रकार के कृत्रिम रंग
का प्रयोग करते है साथ ही इनमें मिलावट होने का भी खतरा रहता है। अतः त्योहारों के मौके पर कोशिश करना
चाहिए की बाजार की मिठाई न खरीद कर थोड़ा वक्त निकाल कर घर पर ही नेचुरल चीजों, जैसे दूध, बेसन,
नारियल, ड्राई फ्रूट्स आदि से मिठाई तैयार करें और उसी से लोगों का मुँह मीठा कराएं।

इसे भी पढ़ें: खूबसूरत त्वचा पाने के लिए वरदान है विटामिन E के कैप्सूल्स

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.