Home लाइफ स्टाइलखानपान देसी घी हमें किन-किन बीमारियों से बचाता है और इसका खाने का सही समय क्या होता है?

देसी घी हमें किन-किन बीमारियों से बचाता है और इसका खाने का सही समय क्या होता है?

by Naina Chauhan
ghee

क्या देसी घी खाने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है? आप भी यहीं सोचते होंगे, सही कहा न ….. क्योंकि मेट्रो सिटीज में बिना फैक्ट्स को जाने एक आम धारणा बन गई है कि देसी घी से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है। लेकिन एक दम गलत है कि देशी घी सेहत के लिए हानिकारक है। देसी घू खाने से खून और आंतों में मौजूद कोलेस्ट्रॉल कम होता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि देसी घी से Bilarias Lipid का स्राव बढ़ जाता है। 

ghee

हाथ की चर्बी कम करने के लिए घर पर ही करें ये उपाय

देसी घी हमारी बॉडी में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को सही रखता है और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद भी करता है, इसलिए अगर आप कोलेस्ट्रॉल की समस्या से परेशान हैं, तो अपनी डाइट में देसी घी जरूर लें और अगर यह गाय का देशी घी हो तो बहुत अच्छा। लेकिन हां, याद रहे कि इसकी मात्रा जरूरत से ज्यादा न हो। देसी घी का संतुलित इस्तेमाल ही करें। 

इसे भी पढें: प्यार को और अधिक मजबूत बनाने के लिए टिप्स

देसी घी अपने भरपूर गुणों के लिए जाना जाता है। इसमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, मिनरल और पोटेशियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं। घी हमारे बैड कोलेस्ट्रॉल को निकलता है और कोलेस्ट्रॉल के कंट्रोल में रहने से हार्ट सही तरीके से काम करता है और दिल से जुड़ी किसी तरह की बीमारी होने की संभावना बेहद कम हो जाती है। देसी घी में विटामिन K-2 की भी मात्रा होती है। यह विटामिन ब्लड सेल में जमा कैल्शियम को हटाने का काम करता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है। 

इसे भी पढ़ें: मॉर्निंग या ईवनिंग वर्कआउट में से प्रभावशाली कौन सा है ?

घी के नुस्खे-

एक चम्मच शुद्ध घी, एक चम्मच पिसी शकर, चौथाई चम्मच पिसी कालीमिर्च तीनों को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय चाटकर गर्म मीठा दूध पीने से आंखों की ज्योति बढ़ती है।

रात को सोते समय एक गिलास मीठे दूध में एक चम्मच घी डालकर पीने से शरीर की खुश्की और दुर्बलता दूर होती है, नींद गहरी आती है, हड्डी बलवान होती है और सुबह शौच साफ आता है।शीतकाल के दिनों में यह प्रयोग करने से शरीर में बलवीर्य बढ़ता है और दुबलापन दूर होता है।

इसे भी पढें: रोमांटिक कपल बनने के तरीके

घी, छिलका सहित पिसा हुआ काला चना और पिसी शकर (बूरा) तीनों को समान मात्रा में मिलाकर लड्डू बांध लें।

इसे भी पढें: मटन खाने के बाद किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए?

You may also like

2 comments

Avatar
Eric Jones जून 24, 2020 - 1:21 पूर्वाह्न

Good day, I wanted to instead provide you with a word of encouragement – Congratulations

What for?

For the work you’ve done with healthnews24seven.com definitely stands out.
It’s clear you took building a website seriously and made a real investment of time and resources into making it top quality.

Reply
Avatar
Dev जून 27, 2020 - 7:07 अपराह्न

Hi, Dev here. you have great content.

Reply

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.