पुरुषों की प्रजनन क्षमता को दुरुस्त रखने वाले आहार

by Dr. Himani Singh
पुरुषों की प्रजनन क्षमता

अच्छा और पौस्टिक खानपान का सीधा असर हमारी जीवनशैली से जुड़ा होता है। यदि हमारे खानपान की गुणवता घटती है तो इसका सीधा असर हमारे शरीर पर दिखता है। प्रजनन क्षमता का भी सीधा सम्बन्ध हमारे खान पान से होता है। दुनिया भर के कई देशों में पुरुषों के शुक्राणुओं की संख्या में आ रही गिरावट चिंता का विषय बना हुआ है, शुक्राणुओं की संख्या में गिरावट का सीधा संबंध प्रजनन
क्षमता से होता है। एक स्वस्थ पुरुष के शरीर में प्रति सेकेंड 1,500 शुक्राणु बनते हैं, लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी तनावपूर्ण ज़िंदगी व आधुनिक जीवनशैली के कारण बहुत-से पुरुष शुक्राणुओं की कमी की समस्या का सामना रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: मूंगफली के तेल में बनाएं खाना, डायबिटीज और दिल की बीमारियां रहेंगी दूर

आइये जानते हैं कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ जो पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए मददगार सिद्ध होते हैं :

पुरुषों की प्रजनन क्षमता

गोजी बेरीज:

Loading...

गोजी बेरीज शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए एक भारतीय सुपरफूड, के रूप में जाना जाता है। एक चीनी अध्ययन के अनुसार, एक महीने के लिए आधा औंस गोजी बेरी का सेवन करने मात्र से 42-45 आयु के पुरुषों में भी शुक्राणुओं की संख्या दोगुनी हो सकती है। गोजी बेरी खाने से मूड अच्छा होता है, और शुक्राणु उत्पादन को इष्टतम बनाता है।

इसे भी पढ़ें: गैस की समस्या से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय

 पालक:

फोलिक एसिड स्वस्थ शुक्राणु के विकास के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। पालक और अन्य प्रकार की पत्तेदार हरी सब्जियां इस विटामिन का एक समृद्ध स्रोत मानी जाती हैं। जब आपके शरीर में फोलेट का स्तर कम हो जाता है, तो अधिक संभावना होती है कि आप विकृत शुक्राणु पैदा करेंगे। इस प्रकार के शुक्राणु अपेक्छाकृत कम सक्रिय होते हैं जो अंडे को निशेषित करने में भी असमर्थ हो सकते हैं।

 अनार:

यह स्वादिष्ट फल स्पर्म काउंट बढ़ाने और वीर्य की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए एक शक्तिशाली भोजन के रूप में जाना जाता है। यह एंटीऑक्सिडेंट से भरा होता है जो रक्त प्रवाह में फ्री रेडिकल्स से लड़ते हैं। ये फ्री रेडिकल्स वीर्य को नष्ट कर सकते हैं या शुक्राणुओं की संख्या को काफी कम कर सकते हैं। अनार के रस या इसके सेवन से पुरुषों के प्रजनन क्षमता में सुधार आता है।

इसे भी पढ़ें: महिलाओं में होने वाली मेनोपॉज की अवस्था क्या है और कितने चरणों में होती है ?

 कद्दू के बीज:

इनमें एंटीऑक्सिडेंट, आवश्यक अमीनो एसिड और फाइटोस्टेरॉल उचित मात्रा में पाए जाते हैं, जो पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं। इसके अतिरिक्त इन बीजों में जस्ता की भारी खुराक पाई जाती है, जो शुक्राणु की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करता है, साथ ही ओमेगा -3 फैटी एसिड भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। अध्ययन के अनुसार इनके सेवन से टेस्टोस्टेरोन, शुक्राणुओं की गतिशीलता, संख्या और स्तर में वर्द्धि होती हैं।

 जामुन:

ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी, क्रैनबेरी और ब्लैकबेरी सहित सभी प्रकार के जामुन में शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। ये शुक्राणु की गुणवत्ता,संख्या और गतिशीलता में सुधार लाते हैं। हर दिन मुट्ठी भर जामुन खाने काफी लाभ मिलता है , इसके अतिरिक्त आप जामुन को दही के साथ स्मूदी के रूप में भी ले सकते हैं ।

इसे भी पढ़ें: गैस की समस्या से छुटकारा पाने के घरेलु उपाय

 सीप:

सिप में किसी भी अन्य भोजन की तुलना में जस्ता की अधिक मात्रा पाई जाती है, और जस्ता से युक्त खाद्य पदार्थ वीर्य की मात्रा और शुक्राणु की गतिशीलता को बढ़ाकर पुरुष प्रजनन क्षमता में मदद करते हैं।

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.