Home हेल्थकैंसर जानें ब्लड कैंसर के शुरूआती लक्षण

जानें ब्लड कैंसर के शुरूआती लक्षण

by Mahima

कैंसर सुनने में भी खतरनाक और जिसको हो जाए उसलके लिए भी खतरनाक। कुछ कैंसर ऐसे भी हैं, जो व्यक्ति की रक्त कोशिकाओं पर आक्रमण कर देते हैं। इस प्रकार के कैंसर ज्यादा खतरनाक होते हैं क्योंकि रक्त हमारे पूरे शरीर में प्रवाहित होता है। हर साल लगभग 75 लाख लोगों की मौत का कारण ब्लड कैंसर है। आमतौर पर ब्लड कैंसर के लक्षण बहुत धीरे-धीरे सामने आते हैं इसलिए इसे शुरूआती स्टेज में पहचानना मुश्किल होता है।

कैसे होता है ब्लड कैंसर

आमतौर पर ब्लड कैंसर होने के कई कारण हो सकते हैं। ल्यूकीमिया सबसे आम ब्लड कैंसर है। ल्यूकीमिया होने पर कैंसर के सेल्स शरीर के रक्त बनाने की प्रक्रिया में दखल देने लगते हैं। ल्यूकीमिया रक्त के साथ-साथ अस्थि मज्जा (बोन मैरो) पर भी हमला कर देता है।

इसे भी पढ़ें: महिलाओं में होने वाले सर्वाइकल कैंसर के लिए कौन से टेस्ट जरुरी हैं ?

  • अगर किसी व्यक्ति के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है, तो उसे ब्लड कैंसर हो सकता है।
  • किसी विशेष प्रकार के संक्रमण से ग्रसित होने पर ब्लड कैंसर होने की संभावना हो सकती है।
  • किसी अन्य प्रकार के कैंसर के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली रेडिएशन थेरेपी की हाई डोज से ब्लड कैंसर हो सकता है।
  • एचआईवी व एड्स जैसे संक्रमण होने से इम्यून सिस्टम प्रभावित होता है जिससे ब्लड कैंसर का खतरा हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज और कैंसर जैसे रोगों को दूर करता है गाजर, अदरक का जूस

ब्लड कैंसर के क्या हैं लक्षण

  • ब्लड कैंसर के ज्यादातर मामलों में रोगी को थकान और कमजोरी महसूस होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं की संख्य कम होने लगती है जिससे व्यक्ति में खून की कमी हो जाती है।
  • असामान्य सफेद रक्त कोशिकाएं लिवर में जमा होने से एकत्र हो जाती हैं जिससे पेट में सूजन और अन्य समस्याएं हो जाती है। इस तरह की सूजन से आपकी भूख भी कम हो सकती है। थोड़ा सा खाने पर ही आपका पेट भरा लगने लगता है। ऐसे में आपको डॉक्‍टर से जरूर संपर्क करना चाहिये।
  • रक्त कैंसर से ग्रस्त व्यक्ति बार-बार संक्रमण की चपेट में आ जाता है। जब शरीर में ल्यूकीमिया के सेल विकसित होते हैं तो रोगी के मुंह, गले, त्वचा, फेफड़ो आदि में संक्रमण की शिकायत देखी जा सकती है।
  • जिन लोगों को कैंसर होता है उनका वजन असामान्य रूप से कम होने लगता है। अगर बिना किसी प्रयास के शरीर का वजन ज्यादा कम हो जाये तो इसे कैंसर का प्राथमिक लक्षण के रूप में देखा जा सकता है।
  • बुखार कैंसर का एक सामान्य लक्षण होता है। कैंसर मरीज की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है, इसलिए मरीज को अक्सर बुखार रहने लगता है। ब्लड कैंसर, ल्यूकीमिया इत्यादि में अक्सर बुखार के लक्षण नजर आते हैं।
  • शरीर में ल्यूकीमिया सेल्स का असामान्य निर्माण अस्थि मज्जा को स्वस्थ रक्त कोशिकाओं को बनाने से रोकता है जैसे प्लेटलेट्स। इसकी कमी के कारण रोगी के नाक से, मासिक धर्म के दौरान, मसूड़ों आदि से ज्यादा ब्लीडिंग की समस्या देखी जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जो कैंसर को बढ़ने से रोकने में सहायक

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.