शेयर करें
ASHWAGANDHA

प्राचीनकाल से ही भारत में अश्वगंधा को महत्वपूर्ण जड़ीबूटी के रूप में देखा जाता है। अश्वगंधा को एक टॉनिक के रूप में प्रयोग किया जाता है क्योकि इसके सेवन से  शारीरिक क्षमता और आरोग्यवृद्धि होती है। अश्वगंधा को असगंध या वाजीगंधा भी कहा जाता है। अश्वगंधा का शाब्दि अर्थ ‘’घोडे़ की गंध’’ से है। अलग अलग स्‍थानों में इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है।अश्वगंधा बारहमासी होता है जो हिमालय की तलहटी और आसपास के शुष्‍क मैदानों में विस्त्रित रूप से मिलती है। जैसा कि हम जानते है कि यह एक जड़ी बूटी है, जो कि  अपने विशेष गुणों के कारण बहुत अधिक लोकप्रीय है। अश्वगंधा दवा, चूर्ण, कैप्सूल के रूप में आपको आसानी से बाजार में मिल जाती है साथ ही यह  कई रोगों में रामबाण की का कार्य करती है।

इसे भी पढ़ें: होठों पर होने वाले सफेद दाग से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

आइये जानते है इस जड़ी बूटी के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में :

  • मानसिक तनाव कम करने में: अश्वगंधा मानसिक तनाव जैसी गंभीर समस्या को ठीक करने में लाभदायक होता है। एक रिर्पोट के अनुसार तनाव को 70 फिसदी तक अश्वगंधा के इस्तेमाल से कम किया जा सकता है।  यह मस्तिष्क की कार्यक्षमता बढ़ाने में भी काफी मददगार  होता है और साथ ही काफी हद तक  दिमाग को ठंडा रखने में भी फायदेमंद साबित होता है। जिसके चलते आपका  मानसिक संतुलन  ठीक  बना रहता है और आपको  अच्छी नींद आती है।
  • डायबिटीज को कम करने में: कई तरह के परीक्षणों में यह पाया गया है कि अश्वगंधा शरीर के रक्त में शुगर की मात्रा को कम करता है। दरअसल इसका इस्तेमाल खून में इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ावा देता है जिससे डायबिटीज से ग्रस्त लोगों में शुगर की समस्या से आराम मिलता है। एक शोध में जब 6 डायबिटीज पीड़ित लोगों को अश्वगंधा का सेवन करवाया गया तो यह पाया गया कि बिना किसी अन्य दवाइयों के सेवन से सिर्फ अश्वगंधा का सेवन करने से अन्य दवाइयों जितना ही असर पड़ता है। इसका मतलब यह है कि डायबिटीज पर महंगी दवाइयों का जितना असर होता है उतना ही असर मात्र अश्वगंधा का सेवन करने से होता है।
  • कामोत्तेजना को बढ़ाने में: आयुर्वेदिक चिकित्सक अक्सर कामुकता और जनन अक्षमता संबंधी समस्याओ से छुटकारा पाने के लिए अश्वगंधा खाने का सुझाव देते है। यह मानवीय कामेच्छा की मरम्मत करता है और पुरुषो में वीर्य के उत्पादन को बढाता है। साथ ही यह मानवी शरीर में यौन स्वास्थ और शक्ति बढ़ाने का भी काम करता है। इसके साथ-साथ यह जडीबुटी हमारे दिमाग को शांत रखने और कामुकता की इच्छाशक्ति और प्रदर्शन क्षमता विकसित करने में सहायक होती है।
  • सफेद पानी (लिकोरिया) की समस्या को दूर करने में : महिलाओं में सफेद पानी की वजह से उनका शरीर कमजोर होने लगता है।जिसका असर उनके गर्भाशय में भी पडता है,लेकिन अश्वगंधा के सेवन से महिलाओं को इस रोग से निजात मिलती है।
  • मांसपेशियों की शक्ति में सुधार तथा प्रतिरक्षा प्रणाली मे सुधार लाने में: अश्वगंधा हमारे शरीर के मांसपेशियों की शक्ति मे सुधार लाने और कमजोरी दुर करने में बहुत उपयोगी है। साथ ही ये प्रतीक्षा प्रणाली ( immune system) को मजबूत बनाता है। जो  लोग बड़ी जल्दी-जल्दी बीमार पड़  जाते है, उनके लिए अश्वगंधा एक बहुत ही अचूक दावा का  काम करती है | साथ ही यह जोड़ो का दर्द दूर करने में भी रामबाण का कार्य करती है।

इसे भी पढ़ें: अपने कमजोर बालों को आंवला हेयर मास्क की मदद से दें मजबूती

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी