Home प्रेगनेंसी & पेरेंटिंग बाईस सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन

बाईस सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन

by Darshana Bhawsar
Published: Last Updated on
Pregnancy

जैसा कि सभी जानते हैं कि गर्भवस्था के हर सप्ताह और हर महीने में कई प्रकार के परिवर्तन आते हैं यहाँ हम बात करने वाले हैं बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन के बारे में। अब बहुत हद तक गर्भवती प्रसव के निकट होती हैं और कुछ ही दिनों में शिशु घर आने की तैयारी में रहता है।

इसे भी पढ़ें: जानिए तीसरे महीने की गर्भावस्था में शिशु कैसे होता है विकसित

बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन:

  • बाईस सप्ताह में शिशु का विकास:

अब शिशु बहुत सी चीज़ें महसूस करना शुरू कर देता है, क्योंकि शिशु की सुनने की क्षमता, उसकी दृष्टि और स्पर्श में इस दौरान सुधार होता है। अब शिशु की पकड़ने की शक्ति भी बढ़ने लगती है। इस दौरान लानुगो नामक महीन बाल शिशु के शरीर को त्वचा की गहराई में सुरक्षित एवं ढक कर रखता है। शिशु के फेफड़े स्वतंत्र रूप से सांस लेने के लिए अब विकसित होने लगते हैं। अब शिशु को दिन और रात के बीच का अंतर समझने आने लगता है, साथ ही शिशु अब आपकी आवाज़, पेट की आवाज, दिल की धड़कन और गर्भवती द्वारा गए हुए संगीत जैसी अलग-अलग आवाजों को सुन और पहचान पाने में समर्थ होता है। शिशु के होंठ अब पूर्ण रूप से विकसित हो चुके होते है, साथ ही शिशु के मसूड़ों के नीचे अब दाँतों की कलियाँ भी बनने लगती हैं।

  • शिशु का आकार इस दौरान क्या हो सकता है:

शिशु का वज़न अब लगभग 0.5 किलोग्राम तक हो जाता है, इस हफ्ते में शिशु लगभग पपीते के आकार जितना हो जाता है। गर्भावस्था के इस सप्ताह में शिशु सिर से पैर तक अब लगभग एक फुट जितना होता है और भ्रूण अब बिल्कुल छोटे से बच्चे जैसा प्रतीत होने लगता है।

इसे भी पढे़ं: सत्रह सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन

  • सामान्य शारीरिक परिवर्तन:

बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन कई हैं इस गौरं गर्भवती नए शारीरिक परिवर्तनों का अनुभव करती हैं जो इस प्रकार हैं:

  1. बालों में परिवर्तन:

गर्भवती के सिर पर बाल इस दौरान बहुत अधिक मोटे एवं चमकदार होने लगते हैं। इस दौरान गर्भवती के शरीर में कई हॉर्मोन्स का संचरण होता है और इसी कारण गर्भावस्था के समय गर्भवती के बाल कम झड़ते हैं। कभी कभी  कई अन्य जगह पर भी बाल बढ़ते नज़र आते हैं जैसे चेहरे, हाथ पेट, पैर, छाती एवं पीठ आदि। यह भी बाईस सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन में से एक है।

  • त्वचा में बदलाब:

इस दौरान त्वचा में कई प्रकार के परिवर्तन आते हैं जैसे  कुछ गर्भवती की त्वचा तो बहुत चमकदार हो जाती है और उज्जवल हो जाती है और कुछ गर्भवती महिलाओं की त्वचा तैलीय, मुहांसों वाली एवं सूजी हो जाती है। कभी-कभी इस दौरान मेलेनिन का स्तर अधिक हो जाता है इससे गर्भवती के चेहरे पर काले धब्बे हो जाते हैं। इस दौरान अगर गर्भवती अच्छा सनस्क्रीन लगा लें तो इससे त्वचा में फायदा हो जाता है। इस समय एक और समस्या से गर्भवती को गुजरना होता है जैसे स्ट्रेच मार्क्स यह गर्भावस्था में पेट के बढ़ने की वजह से उत्पन्न होती हैं। बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तनों में यह परिवर्तन ऐसा है जिससे हर गर्भवती को गुजरना होता है।

इसे भी पढ़ें: जानिए तीसरे महीने की गर्भावस्था में शिशु कैसे होता है विकसित

  • हाथ के नाखूनों में परिवर्तन:

इस सप्ताह के दौरान नाखून भी बालों के जैसे ही तेज़ी से बढ़ते हैं लेकिन यह गर्भवती के शरीर पर पुर्णतः निर्भर करता है कि वे मुलायम, कठोर, चिकने, खुरदुरे या भंगुर हैं। यह भी इस दौरान आने वाला एक परिवर्तन है।

  • स्तन में बदलाब:

इस दौरान गर्भवती के निपल के साथ ही साथ उनके आस-पास के घेरे ज़्यादा बड़े और गहरे रंग के हो जाते हैं। और उनमें छोटे छोटे हलके दाने भी हो जाते हैं। ऐसा तेल की ग्रंथियों की वजह से होता है चिकने जीवाणुरोधी तेल का उत्पादन यहाँ होता हैं यह स्तनपान शुरू करवाते समय गर्भवती के निपल को फटने से सुरक्षित रखता है।

इसे भी पढ़ें: ग्यारहवें सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन

  • पैरों में सूजन:

एडिमा या पानी की वजह से पैरों में सूजन आती है इससे गर्भवती के पैर का आकार भी बढ़ जाता है। बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन में यह ऐसा परिवर्तन हैं जिसकी वजह से गर्भवती महिलाएँ बहुत परेशान रहती हैं।

  • गर्भावस्था के 22वें सप्ताह में आने वाले लक्षण:

पिछले कुछ हफ़्तों वाले ही लक्षण गर्भवती को इस हफ्ते भी महसूस होते हैं क्योंकि यह हफ्ता गर्भवती के लिए पिछले ही सप्ताह जैसा होता है लेकिन उससे थोडा सा कठिन होता है।

  • बदहज़मी:

बाईस सप्ताह की गर्भावस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन में यह सबसे आम लक्षण है। गर्भावस्था के दौरान खाने की इच्छा तीव्र हो जाती है। अगर रात को गर्भवती मिर्च मसाले वाला खाना खा लेती हैं या फिर अधिक तेल वाला खाना खा लेती हैं तो उस समय इस प्रकार की परेशानी का सामना गर्भवती को करना पड़ता है।

  • सेक्स का तीव्र मन:

बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन के दौरान गर्भवती को कई बार सेक्स का तीव्र मन होता है। यह एक बहुत बड़ा बदलाब इस दौरान देखने के लिए मिलता है।

  • गर्भावस्था के 22वें सप्ताह में गर्भवती का पेट:

बाईस सप्ताह की गर्भवस्था के दौरान आने वाले परिवर्तन में यह भी एक स्वाभविक परिवर्तन है।  गर्भवती का पेट इस दौरान लगभग 25 से.मी. तक का हो जाता है।  इस समय पर गर्भवती को खुद के लिए और शिशु के लिए पोष्टिक एवं स्वस्थ आहार का सेवन करना जरुरी होता है। इस समय डॉक्टर हर दिन अधिकतम 300 कैलोरी अतिरिक्त खाने की सलाह गर्भवती को देते हैं। इस प्रकार से कई परिवर्तन शिशु एवं गर्भवती में देखने के लिए मिलते हैं।