Home माइंड एंड बॉडी मैडिटेशन से करें माइंड एंड बॉडी कंट्रोल

मैडिटेशन से करें माइंड एंड बॉडी कंट्रोल

by Darshana Bhawsar
Published: Last Updated on
माइंड एंड बॉडी कण्ट्रोल

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग एवं मैडिटेशन बहुत ही असरकारी हैं एवं इनसे दिमाग और शरीर के हर हिस्से में सकारात्मक उर्जा का प्रवाह होता है। एवं मैडिटेशन से माइंड एंड बॉडी कंट्रोल करना बहुत आसान है। अपने विचारों एवं अपनी बॉडी को कण्ट्रोल करना एवं उन्हें सही दिशा में चलायमान करना बहुत जरुरी है। इससे माइंड एंड बॉडी बैलेंस किया जाना संभव है। एवं इसके लिए जरुरी है मैडिटेशन। शास्त्रों एवं कई ग्रंथों के अनुसार मैडिटेशन एक ऐसा योग है जो हर दिमागी और शारीरिक परेशानी को दूर करने में सक्षम है।

इसे भी पढ़ें: ध्यान से जुड़ी कुछ गलत अवधारणाएं

माइंड एंड बॉडी कण्ट्रोल

माइंड एंड बॉडी बैलेंस एवं माइंड एंड बॉडी बैलेंस के लिए मैडिटेशन को अपनाना एक सही निर्णय है। अगर मैडिटेशन और योग को थोडा सा समय दिया जाये तो आसानी से स्वस्थ काया पाई जा सकती है और दिमाग में शांति का अनुभव किया जा सकता है। एक नियमित समय पर इसका प्रयोग करें एवं मैडिटेशन और योग को अपनाएं और फिर देखें इनका चमत्कार। हमारे शरीर में ही कई ऐसी क्रियाएं होती हैं जो हमें सकारात्मक उर्जा प्रदान करती हैं। सात चक्र के बारे में तो आपने सुना ही होगा। साथ चक्र शरीर के सबसे ताकतवर क्रियाओं को धारण करने वाले तत्व हैं इनके जागरण के लिए लोग तरह-तरह के मैडिटेशन का प्रयोग करते हैं। क्योंकि मैडिटेशन ही एक मात्र ऐसा तरीका है जिससे सातों चक्र जागरण किये जा सकते हैं।

तो अब तो आप जान ही गए होंगे कि मैडिटेशन में कितनी अधिक शक्ति है। अब बात आती है माइंड एंड बॉडी कंट्रोल एवं माइंड एंड बॉडी बैलेंस की। तो जब सात चक्र जागरण मैडिटेशन से किये जा सकते हैं तो बॉडी और माइंड कण्ट्रोल एवं बैलेंस तो आराम से करना संभव है। आज कल सरकार ने भी कई मैडिटेशन सेण्टर खोले हैं जो बिलकुल मुफ्त हैं। अगर आपको मैडिटेशन का सही तरीका नहीं पता है तो आप इन सेण्टर में जाकर यहाँ मैडिटेशन सीख सकते हैं और अपना सकते हैं। यह सबसे आसान तरीका है। योग भी एक बहुत अच्छा जरिया है जिससे माइंड और बॉडी कण्ट्रोल में आते हैं। तो अगर आप योग और मैडिटेशन दोनों ही अपनाते हैं तो भी कोई नुकसान नहीं है।

इसे भी पढ़ें: मन को करना है शांत तो रोज करें ध्यान