शेयर करें

जीवन को खुशहाल व रिश्तों को मजबूत बनाने में अटूट कड़ी की भूमिका निभाते हैं ये त्योहार । जिंदगी में उमंग और उत्साह की नई लहरों को जन्म देते हैं ये त्योहार। त्योहार हमारे जीवन में उमंग और खुशी लेकर आते हैं व रिश्तों को मजबूत बनाने में एक अटूट कड़ी का किरदार अदा करते हैं। अपने जीवन की जिम्मेदारियों का पालन करते-करते हम इतने व्यस्त हो जाते हैं कि जीवन में नीरसता आने लगती है। ऐसे में त्योहार और रस्म-रिवाज न केवल हमारे जीवन में रंग भरते हैं, बल्कि समाज के हर वर्ग को एक-दूसरे से जोड़ने का काम बड़ी खूबसूरती से करते हैं। आपने कभी इस बात की कल्पना की है कि अगर हमारे पर्व-त्योहार और रीति-रिवाज न होते तो क्या होता? इनके बिना हमारी जिंदगी कितनी नीरस और बेरंग होती।

इसे भी पढ़ें: किचन को इन टिप्स द्वारा हाइजीनिक रख कर अपनी फैमिली को रखें स्वस्थ

क्यों जरूरी हैं त्योहार:

  • त्योहार जीवन को खुशहाल व रिश्तों को मजबूत बनाने में एक अटूट कड़ी की भूमिका निभाते हैं।
  • होली का त्योहार जहां मस्ती और मौज का संदेश देता है वहीं दीवाली अंधकार को दूर कर के जीवन में रोशनी भरने का।
  • त्योहार अच्छा खाना, अच्छा पहनना, खुश रहने और जीवन को खुशनुमा बढ़ाने का श्रेष्ठ माध्यम होते हैं।
  • जीवन को नई ताजगी देते त्योहार जीवन में जीने का उत्साह और उल्लास का रंग भरते हैं जिससे जीने का हौसला दोगुना हो जाता है।
  • त्योहारों की रस्में कुछ इस तरह बनाई गई हैं कि इसमें समाज के हर जाति और वर्ग के लोग सम्लित होते हैं जो की आपसी सहयोग और प्यार को दर्शाता है।
  • रोजमर्रा की परेशानियों को भुला कर हमें सजने संवरने और नए स्वाद चखने का भी अवसर देते हैं ये त्योहार।
  • प्रत्येक त्योहार को मनाने के नियम है। उत्सवों में पवित्रता का विशेष ध्यान रखा जाता है। उत्सव या त्योहार इसलिए होते हैं कि जीवन से दुख मिटाकर व्यक्ति एक होकर सुखी रहे। उत्सव में प्रकृति तथा ईश्वर के प्रति प्रर्थना और धन्यवाद देने का महत्व है।

इसे भी पढ़ें: वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा होना चाहिए घर का नक्शा

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी