Home लाइफ स्टाइलखानपान अजीनोमोटो क्या है? यह स्वास्थ्य के लिए क्यों हानिकारक है?

अजीनोमोटो क्या है? यह स्वास्थ्य के लिए क्यों हानिकारक है?

by Naina Chauhan
ajinomoto

अजीनोमोटो नमक जैसा होता है जिसका अपने आप में एक खास स्वाद होता है। इसका ज्यादातर इंडो चाइनीज खाने में उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग स्वाद बढ़ाने के लिए सीजनिंग के रूप में किया जाता है। यह बड़े ग्रोसरी स्टोर्स पर मिल जाता है

इसे भी पढें: मटन खाने के बाद किन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए?

  1. अजीनोमोटो का दूसरा नाम मोनो सोडियम ग्लूटामेट भी है , इसके अलावा इसे एमएसजी के नाम से भी जानते है। इसका सीमित मात्रा में सेवन करना सुरक्षित है परन्तु अत्यधिक मात्रा में उपयोग करने से इसका सेवन हानिकारक है। इसे जिस फ़ूड में डाला जाता है ये उसका स्वाद बढ़ा देता है।
ajinomoto
  • अजीनोमोटो का उपयोग |
  • चायनीज खाने में विशेष रूप से अजीनोमोटो का उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग करके लोग खाने को स्वादिष्ट बनाते है।
  • इसका इस्तेमाल सुरक्षित माना गया है , अपितु इसके आस पास कुछ गलतफहमी भी पनप रही है जो की वैज्ञानिक रूप से अभी प्रमाणित नहीं हो पाई है . सब्जियों के मसाले में इसका उपयोग किया जाता है ।
  • 1908 में यह एक ब्रांड के रूप में व्यवसायिक तौर पर आया । किन्तु आज दुनिया में हर खाने को स्वादिष्ट बनाने में प्रयोग में लिया जाता है।
  • इसका इस्तेमाल चायनीज खाने जैसे नुडल्स , सूप आदि कई प्रकार के खाने में किया जाता है ।
  • अजीनोमोटो के नुकसान |

पहले इसका उपयोग केवल चीन में रसोई में होता था , पर धीरे धीरे हम सभी के घरो में इसका उपयोग होना शुरू हो गया है और एक अच्छी पैठ बना चूका है। हम 2 मिनट में नुडल्स बनाकर अपने समय बचाने के चक्कर में खाते है उनमे ये पाया गया है की ये धीरे धीरे हमारे शरीर को हानि पहुचाता है।और इससे हमारे शरीर में साइड इफ़ेक्ट होने लगता है।

ajinomoto
  • इसका सेवन करने से शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ जाती है। और इसके सेवन से रक्त में ग्लूटामेट का स्तर बढ़ जाता है। जसी वजह से शरीर पर काफी गम्भीर प्रभाव पड़ता है।
  • ये एक नशे की तरह कार्य करता है। एक बार इसे खा लेते हो तो बार बार खाने का जी चाहता है और इसे खाने से नुकसान होता है।
  • एमएसजी को एक धीमा हत्यारा कहना गलत नहीं है क्योंकि ये आँखों की रेटिना को नुकसान पहुचाता है साथ ही ये थायराईट और केंसर जैसे रोगों के लक्षण पैदा कर सकता है।

जीनोमोटो से होने वाली हानि |

हाथ की चर्बी कम करने के लिए घर पर ही करें ये उपाय

अजीनोमोटो का उपयोग करना हमारे लिए नुकसानदेय है उसके बारे में हम ऊपर बात कर चुके है। अब हम बात करेंगे की उससे बड़ा नुकसान क्या हो सकता है इसके उपयोग से। वैसे इसका उपयोग करना लाभदायक भी है इसके बारे में हम निचे डिटेल से बात करेंगे फ़िलहाल हम जानते है।

  • माइग्रेन : अजीनोमोटो का रोजाना सेवन करने से हमारे आधे सिर में हल्का हल्का दर्द होने लगता है। जिसको हम माइग्रेन अथवा अधकपाली भी कहते है।
  • तंत्रिका पर प्रभाव : ये तंत्रिका को प्रेरित कर उसमे असंतुलन पैदा कर सकती है . इस वजह से शरीर में झनझुनी और गर्दन में खिचाव या अकडन होने लगती है। अजीनोमोटो के सेवन से अल्झाइमर, हन्तिन्ग्तिओन और पार्किन्सन , मल्टीपल स्क्लेरोसिस जैसी लक्षण पैदा होने लगते है। ये एक न्युरोत्रन्स्मित्टर है जो अनिद्रा जैसे विकारो के भी लक्षण पैदा कर सकते है।
  • बच्चो के हानिकारक : बच्चो को अजीनोमोटो युक्त खाध्य पदार्थो से दूर रखना चाहिए . इसका प्रभाव अलग अलग व्यक्ति पर अलग अलग तरीके से होता है। अगर किसी व्यक्ति में इसका प्रभाव नहीं पड़ता है तो वो इसका उपयोग कर सकता है।
  • बांझपन : गर्भवती महिलाओ का इसका उपयोग बिलकुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि ये बच्चे और महिला के बीच भोजन आपूर्ति में बाधक बन सकता है। इसके साथ साथ मस्तिष्क के न्यूरोस पर भी बुरा प्रभाव डालता है। यह शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ा देता है जिस वजह से रक्तचाप बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही पैरो में सुजन की समस्या होने लगती है।
  • सीने में दर्द : अजीनोमोटो का उपयोग करने से अचानक सीने में दर्द , धडकन का बढ़ जाना और ह्रदय की मांसपेशियों में खिंचाव होने लगता है।
  • मोटापा बढ़ना : एमएसजी के अधिक सेवन से मोटापे के बढ़ने का खतरा हमेशा बना रहता है। हमारे शरीर में मौजूद लेप्टिन हार्मोन , हमें भोजन के अधिक सेवन को रोकने के लिए हमारे मस्तिष्क को संकेत देते है। अजीनोमोटोके सेवन से ये प्रभावित हो सकता है जिस वजह से हम ज्यादा भोजन कर जल्द ही मोटापे से ग्रस्त हो सकते है।
ajinomoto

इसे भी पढ़ें: मॉर्निंग या ईवनिंग वर्कआउट में से प्रभावशाली कौन सा है ?

अजीनोमोटो के लाभ |

  • टमाटर , समुद्री मछलियों , पनीर और मशरूम जैसे खाध्य पदार्थो में प्राकृतिक रूप से ग्लूटामेट पाया जाता है। जिससे इसमें अलग इस्तेमाल नहीं किया जाता और यह हानिकारक भी नहीं होता है। अगर किसी व्यक्ति को अजीनोमोटो खाने में कोई परेशानी नहीं होती है मतलब उसे कोई समस्या नहीं होती है और स्वस्थ है तो वो इसे खा सकता है।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.