शेयर करें

मस्तिष्क हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण भाग माना जाता है। यह हमारे सम्पूर्ण शरीर में होने वाली प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करता है। भावनात्वक से लेकर रचनात्मक पहलुओं के बारे में मस्तिष्क ही अहम् भूमिका अदा करता है।

जानते है कुछ ऐसी बाते मस्तिष्क के बारे जो आपने कभी नहीं सुनी होंगी :

  • हमारे शरीर का लगभग 2% भाग ही मस्तिष्क लेता है परन्तु इसके द्वारा हमारे शरीर की oxygen और खून की 20% खपत होती है।
  • मस्तिष्क में एक “मिडब्रेन डोपामाइन सिस्टम” (एमडीएस) पाया जाता है। यह एमडीएस ही  घटने वाली घटनाओं के बारे में  हमारे मस्तिष्क को संकेत भेजता है। अतः जिस व्यक्ति में एमडीएस जितना अधिक होगा,वह उतनी ही सही भविष्यवाणी कर सकता है।
  • जब हम जगे होते है तब हमारा मस्तिष्क 10 से 23 वाट के बराबर की बिजली जैसी ऊर्जा छोड़ता है जो की एक बल्ब को जला सकता है।
  • हमारा मस्तिष्क 75 % से अधिक पानी से बना होता है।
  • हमारे मस्तिष्क में औसतन 60 ,000 से भी अधिक विचार आते है और उनमे से 70% विचार नकारात्मक होते है।
  • रिसर्च में यह पाया गया है की महिलाओं का दिमाग पुरुषो के दिमाग की तुलना में छोटा होता है, लेकिन मस्तिष्क की तंत्रिका कोशिकाये और कोर्टेक्स महिलाओं को पुरुषों से अधिक होशियार और कुशलता से काम करने की क्षमता प्रदान करते है।
  • मानव मस्तिष्क 5 साल की उम्र तक 95 प्रतिशत बढ़ता है और 18 साल की उम्र तक 100 प्रतिशत विकसित हो जाता है इसके बाद इसका बढ़ना रूक जाता है।
  • 90 मिनट तक लगातार पसीने से तर रहने पर आप हमेशा के लिये एक मनोरोगी बन सकते है।
  • अगर हमारे मस्तिष्क को 5 मिनट तक ऑक्सीजन न मिले तो इसे काफी क्षति पहुंच सकती है।
  • मनुष्य के दिमांग में कोई भी दर्द की नस नहीं होती जिसकी वजह से इसमें दर्द नहीं होता है।
  • मानव की ग्रोथ दिन की अपेक्षा रात को अधिक होती है। ऐसा दिमाग में मौजूद पिटूइटेरी ग्रंथि के कारण होता है। यह ग्रंथि रात को सोते समय बढ़ने वाला एक हार्मोन को छोड़ती है।
  • एक जीवित व्यक्ति का दिमाग बड़ा ही मुलायम होता है और यह आसानी से चाकू से काटा जा सकता है।
  • हमारा आधा दिमाग सर्जरी द्वारा हटाया जा सकता है लेकिन इसकी वजह से हमारी याददाश्त  पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • मनुष्य के मस्तिष्क में एक सेकेंड में एक लाख रासायनिक प्रतिक्रियाएं होती है।
  • मस्तिष्क में लगभग 86 अरब दिमागी कोशिकाएं पायी जाती है।

रिपोर्ट : डॉ. हिमानी