Home लाइफ स्टाइलखानपान किशमिश का पानी पीने से होने वाले स्वास्थ लाभ

किशमिश का पानी पीने से होने वाले स्वास्थ लाभ

by Mahima
kishmish

किशमिश एक तरह का ड्राई फ्रूट है, इसे अंगूर को सुखाकर बनाया जाता है। किशमिश में भरपूर मात्रा में आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर पाया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार नियमित रूप से किशमिश खाने से अधिक लाभकारी इसका पानी पीना होता है। क्योकि किशमिश में बहुत अधिक मात्रा में शुगर पायी जाती है। जब हम इसको रात भर पानी में भिगोकर रखते है, तब इसका शुगर कंटेट कम हो जाता है और इसकी न्यूट्रीशन वैल्यू अधिक हो जाती है। रात में एक कप पानी में 2 चम्मच किशमिश भिगो कर रख दें और सुबह इसको छानकर इसका पानी पिएं और किशमिश को अच्छी तरह चबाकर खाने से अनेकों स्वास्थ लाभ होतें हैं।

इसे भी पढ़ें: सर्दी जुकाम से हैं परेशान तो अपनाएं ये आसान घरेलु उपाए

आइये जानते हैं इसके सेवन से होने वाले लाभ के बारे में :

●खाली पेट किशमिश के पानी का नियमित सेवन करने से कब्ज, एसिडि‍टी और थकान जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलती है।
●किशमिश का पानी पीने से कोलेस्ट्रॉल लेवल नॉर्मल होता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में ट्राईग्लिसेराइड्स का स्तर कम होता है।
●8-10 किशमिश को एक गिलास पानी में रात में भिगो कर रख दें। सुबह पानी में भीगी किशमिश को अच्छी तरह पीस कर 4 दिनों तक खाली पेट पीने से लीवर एकदम साफ हो जाता है।
●किशमिश में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए इसे स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है।
●किशमिश में बहुत से ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी बढ़ाने में लाभकारी होते हैं। अतः सर्दियों में इसके सेवन से बैक्टीरिया और इंफेक्शन (संक्रमण) से लड़ने में मदद मिलती है।
●इसमें फ्लेवेनॉइड्स एंटी ऑक्सीडेंट उचित मात्रा में होते हैं, जो त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियों को तेजी से कम करने में मददगार होते हैं।
●किशमिश में एंटीबैक्टीरियल गुण उचित मात्रा में पाए जाते हैं। इससे बैक्टीरिया से लड़ने में सहायता मिलती है और मुंह से आने वाली बदबू दूर होती है।
●किशमिश में कैल्शियम और माइक्रो न्यूट्रीयंट बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। इससे हड्डियां स्वस्थ और मज़बूत बनती है।
●किशमिश में पाए जाने वाले फ्रक्टोस और ग्लूकोज़ बहुत अधिक मात्रा में उर्जा प्रदान करते हैं। अत: उचित मात्रा में इसके सेवन करने से कमजोरी नहीं लगती है।

इसे भी पढ़ें: फ्लू सीजन से पहले क्यों जरूरी है फ्लू वैक्सीन? पढ़ें यहां

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.