Home फिटनेसयोग गले के दर्द के लिए योग है सबसे अच्छा उपाय

गले के दर्द के लिए योग है सबसे अच्छा उपाय

by Darshana Bhawsar
throat pain

वैसे तो योग शरीर के हर दर्द के लिए सबसे अच्छा इलाज है। इससे कई प्रकार के दर्द से राहत मिलने के साथ साथ मन को एकाग्रता भी मिलती है। योग कई वर्षों से चली आ रही एक विशेष रोगथाम पद्धति है। कई बार आयुर्वेद और योग को साथ रखकर कई बिमारियों का इलाज किया जाता है। योग के
फायदे अनगिनत हैं। यहाँ हम गले के दर्द के लिए योग के बारे में जानेंगे। गर्दन में होने वाले दर्द को सर्विकालजिया कहते हैं। सर्विकालजिया होने के कुछ कारण होते हैं।

सर्विकालजिया (गले के दर्द के कारण):

 निरंतर एक ही स्थिति में बैठे रहना।

 लगातार नींद न पूरी होना।

 कम व्यायाम करना।

इन कुछ कारणों से गर्दन का दर्द होता है एवं इसे दूर करना बहुत जरूरी होता है ताकि कोई और बीमारी न हो जाये। गले के दर्द के लिए योग इस प्रकार हैं इन योग के फायदे अनगिनत हैं। इन योग को करने की एक विधि होती है जो इस प्रकार है:

योग एंड लाइफस्टाइल को जोडें और पाएँ स्वस्थ जीवन

 बालासन:

balasana

 सबसे पहले एड़ियों के ऊपर बैठ जाएँ। कूल्हों को एड़ी पर रखें।

 अब आगे की तरफ झुकें।

 हाथों को आगे की तरफ रखते हुए माथे को जमीन से स्पर्श करें।

 छाती से जाँघो पर थोड़ा दबाव डालें।

 अब कुछ देर इसी स्थिति में रहें।

 धीरे से उठें और पहले जैसे एड़ी पर बैठ जाएँ एवं रीढ़ की हड्डी को सीधा करें।

इसे भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद कैसे घटाएं अपना वजन

 नटराजासन:

Natrajasana

 पीठ के बल लेट जाएँ और अपने दोनों हाथ फैला लें।

 हथेली जमीन की ओर रखें और कंधो के समान रखें।

 पैरों को मोड लें और मोड़ते हुए ही एड़ी के पास के पास लेकर आएँ।

 अब साँस छोड़ें और घुटने को दाई तरफ झुकायें फिर बाई और देखें।

 साँस को लेते रहें और साँस के साथ अपने घुटनों और कंधो को ज़मीन की तरफ लाने की कोशिश करें।

 कंधे जमीन को स्पर्श करते रहना चाहिए।

 हर बार साँस को छोड़ते हुए थोड़ा विश्राम करें।

 धीरे से अपने पहले की स्थिति में आ जाएँ और दूसरी तरफ से यही आसान करें।

इसे भी पढ़ें: मेडिटेशन और योग के लाभ

 मार्जरासन:

मार्जरासन

 घुटने और हाथों के बल अपने पूरे शरीर को ले आएँ। और मेज की स्थिति में आ जाएँ।

 गर्दन को सीधे सामने की ओर रखें।

 अब साँस को लेते हुए ठोड़ी को ऊपर ले जाएँ और सिर को पीछे की तरफ लेकर जाएँ।

 नाभि को जमीन की तरफ दबाएं।

 कमर के निचले हिस्से को छत की तरफ ले जाएँ।

 अब इस प्रिक्रिया को विपरीत तरह से करेंगे। और फिर अपनी स्थिति में वापस आ जायेंगे।

 इस प्रक्रिया को 2 से 6 बार करें।

ये सभी गले के दर्द के लिए योग हैं जिनसे किसी भी प्रकार का गले का दर्द दूर किया जा सकता है। एवं इन योग के फायदे और भी हैं जैसे ये शरीर को लचीला बनाते हैं। शरीर में स्फूर्ति आती है मन शांत होता है इत्यादि।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.