योग एंड लाइफस्टाइल को जोडें और पाएँ स्वस्थ जीवन

by Darshana Bhawsar
yoga

योग एंड लाइफस्टाइल दोनों अलग-अलग जरूर हैं लेकिन अगर दोनों को साथ में जोड़ दिया जाये तो एक स्वस्थ्य जीवन का निर्माण किया जा सकता है। आज के समय में लोग रोज के व्यस्थ जीवन से बहुत परेशान रहते हैं न तो समय पर खाना हो पाता है न समय पर जीवन में मनोरंजन कर पाता हैं। इन सब चीज़ों का असर होता है शरीर और मष्तिष्क पर। और जब तक लोग उनके स्वास्थ्य के लिए सचेत होते हैं तब तक कोई न कोई बीमारी उन्हें घेर लेती है। तो इन सबसे बचने के लिए क्यों न हम योग करें और योग बेनिफिट्स लें। योग एक ऐसा तरीका है जिससे तन मन दोनों ही स्वस्थ रहते हैं।

yoga

हल्दी वाला दूध किस प्रकार आपके फेफड़ों को जहरीली हवा से बचता है

कुछ योग ऐसे होते हैं जिन्हे हम कम समय में सीख सकते हैं और अपने जीवन में उतार सकते हैं। और कम से कम 30 मिनिट तो हम अपने शरीर अपने स्वास्थ्य के लिए दे ही सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कौन से योग हैं जो आप योग एंड लाइफस्टाइल को आपस में जोड़ें और कैसे योग बेनिफिट्स लें:

1.वृक्षासन

Loading...

2. उज्जायी प्राणायाम

3. वज्रासन

वृक्षासन:

Vriksasana

 

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि इस योग की स्थिति वृक्ष के जैसी ही होगी। वृक्षासन एक स्थिर अवस्था और ठहराव को प्रदर्शित करता है। वृक्षासन को करने का तरीका इस प्रकार से है:

Sexy Legs पाने के लिए आज से ही करें ये एक्सर्साइज

1.सीधे खड़े हो जाएँ।

2. दाहिने घुटनें को और इसके पंजे को अपने बाएँ जंघा पर रख दें। ध्यान रहे कि पैर का तलवा जंघा के ऊपर सीधा रहे मुड़े न।

3. अब बाएँ पैर से अपना संतुलन बनाये रखें।

4. इसके बाद धीरे-धीरे साँस को अंदर लें। और साथ ही धीरे -धीरे हाथों को ऊपर ले जाये और दोनों हाथों की हथेलियों को मिलाएं। एवं नमस्कार की मुद्रा बना लें।

स्तनों के नीचे पड़ने वाले चकत्तों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार

5. बिल्कुल सामने की और देखें। और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें।

6. अब धीरे-धीरे साँस को छोड़ते हुए हाथों को नीचे लाएँ और सीधे खड़े हो जाएँ।

7. ऐसे ही अब दूसरे पैर से यही प्रक्रिया दोहराएं। कम से कम 10 मिनट यह योग करें।

यह योग एकग्रता बढ़ाने और शरीर को स्फूर्तिवान बनाने में सहायक है। कई प्रकार के दर्द को दूर करने में यह आसान उपयोगी माना गया है जैसे पैर दर्द, कमर दर्द, घुटनों का दर्द, एड़ियों का दर्द इत्यादि।

इसे भी पढ़ें: खूबसूरत त्वचा पाने के लिए वरदान है विटामिन E के कैप्सूल्स

उज्जायी प्राणायाम:

Ujjayi Pranayama

उज्जायी का अर्थ है विजयी या जीतने वाला। इस आसान के कई फायदे है यह तन मन को स्वस्थ बनाता है और चित्त को एकाग्रता प्रदान करता है। इसे खड़े होकर एवं बैठकर दोनों प्रकार से किया जा सकता है। उज्जायी प्राणायाम को करने की विधि इस प्रकार है:

1. जमीन पर चटाई बिछाकर पद्मासन या सुखासन की अवस्था में बैठ जाएँ।

2. अब साँस को अंदर की तरफ खीचें और साँस को अंदर ही कुछ समय तक रोकें।

3. फिर नाक का एक छिद्र बंद करके दूसरे छिद्र से साँस बाहर छोड़ें।

4. जब साँस को अंदर लें उस समय गले से आवाज निकालते हुए गले को संकुचित करें।

5. इस प्रक्रिया को कम से कम 10 से 12 बार दोहराएं या कम से कम १० मिनिट तक इसे करें।

इसे भी पढ़ें: दिवाली पर बनाएं रंगोली के यह बेस्ट डिजाइन

वज्रासन:

Vajrasana

वज्रासन के कई फायदे है जैसे इसके द्वारा वजन कम किया जा सकता है, सभी रोगों से मुक्ति मिलती है। वज्रासन करने का तरीका इस प्रकार है:

1.जमीन पर चटाई बिछा लें और सामान्य तरीके से बैठ जाएँ।

2. दोनों पैरों को सामने की तरफ फैलाएं। अब शरीर का वजन किसी भी एक पैर की ओर झुका लें। अब अपने दूसरे पैर को घुटनें से मोड़ें ओर दूसरे कूल्हे के नीचे लगा दें।

3. दोनों पैरों के पंजे ऐसे मोड़ें की तशरीफ़ उन पैर आसानी से रख सकें।

4. दोनों हाथों की हथेलियों को घुटनों पर लगा दें। ओर धयान रहे कि दोनों हथेलियाँ घुटनों पर ही हों।

5. वज्रासन में बैठने के बाद आंखें बंद करके साँस को अंदर लें और नाक से ही साँस से लें। समयांतर निर्धारित करें और उसी में साँस को बाहर छोड़ें।

6. तीन से पांच मिनिट तक यह करें। और धीरे-धीरे इसका अभ्यास करें।

इसे भी पढ़ें: इस डांस को करने से सिर्फ 10 मिनट में घटती है इतनी कैलोरी

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.