Home फिटनेस योग का प्रयोग लाभकारी है वजन बढ़ाने में

योग का प्रयोग लाभकारी है वजन बढ़ाने में

by Mahima

अधिकतर लोग सोचते है कि योग मेडिटेशन है। इसके द्वारा न ही वजन बड़ा सकते है और न ही वजन घटा सकते है।परन्तु योग के द्वारा आप वजन बढ़ा और घटा सकते है। बिना किसी नुकसान के आप योग का लाभ अच्छी प्रकार से उठा सकते हैं। जिस प्रकार कुछ आसन सिर्फ वजन कम करने में लाभकारी है, उसी प्रकार योग कि सहायता से आप आसानी से वजन बढ़ा भी सकते है।

इसे भी पढ़ें: सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सूर्य दर्शन नहीं किसी योग से कम

आइए जानते है कौन से योग से आप अपना वजन बढ़ा सकते है:

सूर्य नमस्कार:

सूर्य नमस्कार कई आसनों का सार माना जाता है। इसलिए इसका उपयोग हमारे लिए कई तरह के फायदे दे सकता है। सूर्य नमस्कार का आमतौर पर देखा जाये तो कंधों और छाती पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है। सूर्य नमस्कार में 12 पॉजीशन शामिल है। कोशिश करनी चाहिए कि हर क्रिया कम से कम 5 सेकेंड के लिए जरूर करें। अगर नियमित रूप से सूर्य नमस्कार को आप अपनी दिनचर्या में शामिल करते है, तो इससे आपके शरीर में स्‍फूर्ति आती है और  आपका वजन बढ़ता है।

इसे भी पढ़ें: योग करें लेकिन जरा संभलकर

सर्वांगासन:

यदि आप अपना वजन जल्दी से बढ़ाना चाहते है तो सर्वांगासन का उपयोग लाभकारी होगा। सर्वांगासन शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है, जिससे आपका वजन भी बढने में मदद मिलती है। इस आसन में आपका शरीर 45 डिग्री पर होता है। इस प्रक्रिया में आप जमीं पर लेट जाये और अपने पैरों को ऊपर की ओर उठाये। इस प्रक्रिया में आपका पूरा शरीर,कमर और गर्दन सभी नीचे की ओर ही रहेंगे बस आपके पैर हवा में रहेंगे। यह आसन करने में थोड़ा कठिन जरूर है परन्तु इसे करने से कई लाभ है। इसके उपयोग में लाने से चेहरा चमकदार होता है।

श्वासन:

जो रोगी हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित होते है उनके लिए यह योग बहुत फायदेमंद है। इस योग को करने से शरीर को बहुत आराम मिलता है। वजन को बढ़ाने का यह आसान तरीका है। इसके लिए आप जमीं पर पीठ के बल लेट जाये और अपनी आंखें बंद कर लें और अपने हाथ-पैरों को बिलकुल ढीला छोड़ दें। आप अपने शरीर को शव जैसी मुद्रा में रखे। इस आसन को आप 10 मिनट से लेकर आधे घंटे तक कर सकते है।

इसे भी पढ़ें: रोजना करें गोरक्षासन, नहीं होंगी शरीर में यह परेशानी

भुजंगासन:

इस आसन में आपको ऐसी मुद्रा में रहना है जिस प्रकार आप झूला झूलते हों। इसके लिए आप जमीं पर उल्टा होकर लेट जाये और अपनी कमर को ऊपर की ओर उठाये फिर धीरे-धीरे अपने पैरो को उठाये यानी कमर की ओर मोड ले। फिर अपने हाथों को साइड से ले जाकर अपने दोनों पंजों को पकड़ने का प्रयास करे, ठीक उसी प्रकार जैसे आपका शरीर झूला झूलने लगे। इसके बाद मुंह जितना हो सके उतना ऊपर की ओर उठाएं।

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.