बच्चों के लिए योग एजुकेशन है बहुत जरुरी

by Darshana Bhawsar
yoga

आज के समय में प्रदुषण तो बढ़ ही रहा है साथ ही तनाव भी बहुत बढ़ रहा है। बच्चे हों या बढे सभी मानसिक तनाव से जूझ रहे हैं। एजुकेशन के साथ-साथ बच्चों के लिए योग एजुकेशन भी जरुरी है। इसलिए अगर समय पर सही तरीके से बच्चों को भी योग एजुकेशन दी जाये तो वे अपने स्वास्थ्य के प्रति खुद ही सचेत हो जायेंगे। बच्चों के लिए योग वैसे ही है जैसे बड़ों के लिए। लेकिन बच्चे योग थोड़े अच्छे से करने में सक्षम होते है क्योंकि उनका शरीर लचीला होता है। बच्चों के लिए कुछ विशेष योग इस प्रकार है:

हल्दी वाला दूध किस प्रकार आपके फेफड़ों को जहरीली हवा से बचता है

  • डाउन डॉग- अधो मुख स्वानासन
  • ॐ का उच्चारण
  • हमिंग बी- ब्राह्मरी
  • टीज़ अप- शितकारी शीतली प्राणायाम
  1. डाउन डॉग- अधो मुख स्वानासन:

योग एंड लाइफस्टाइल को जोडें और पाएँ स्वस्थ जीवन

डाउन डॉग- अधो मुख स्वानासन के कई फायदे है बच्चों के लिए योग के दौरान इस योग का प्रयोग करने से बच्चों का दिमाग शांत और एकाग्र होता है। डाउन डॉग- अधो मुख स्वानासन को करने की विधि:

yoga

Loading...
  • जमीन पार सीधे पेट के बल लेट जाएँ।
  • अब दोनों हथेलियों को अपने सीने के पास लाएँ और हथेलियों की सहायता से कमर को ऊपर उठाएं।
  • ज़मीन से कूल्हे को ऊपर की ओर उठाएं जिससे कि शरीर वी आकार में दिखाई दे।
  • अब दोनों पैरों को सीधे देखें और अपनी पहले वाली अवस्था में धीरे-धीरे आएँ।
  • इसको कम से कम 5 मिनिट तक बार-बार करें।Sexy Legs पाने के लिए आज से ही करें ये एक्सर्साइज
  1. ॐ का उच्चारण:

योग एजुकेशन में अगर बच्चों को प्राणायाम में ॐ का उच्चारण सिखाया जाये तो इसके कई फायदे है जैसे रक्तसंचार बढ़ता है, एकाग्र शक्ति का विकास होता है। इसे करने कि विधि इस प्रकार है:

yoga

  • सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएँ।
  • दोनों हाथों को ज्ञानमुद्रा में रख लीजिये।
  • अब अंदर की तरफ साँस लें और ॐ का उच्चारण करते हुए अपनी साँस बाहर छोड़ें।
  • इस प्रिक्रिया को 5 बार कम से कम दोहराएँ।
  1. हमिंग बी- ब्राह्मरी:

स्तनों के नीचे पड़ने वाले चकत्तों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपचार

इस आसन से तनाव को दूर किया जा सकता है। नींद की कमी की समस्या से निजात मिलता है। स्फूर्ति आती है। इस आसन की विधि इस प्रकार है:

yoga

  • सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएँ।
  • अब आंखें बंद कर लें।
  • अब साँस को अंदर की तरफ लें और कानों में उंगली डालकर ङ्गहम्मम की आवाज़ करें।
  • अब साँस बाहर की तरफ छोड़ें।
  • इसको कम से कम 10 मिनिट तक करें।
  1. टीज़ अप- शितकारी शीतली प्राणायाम:

इसे भी पढ़ें: खूबसूरत त्वचा पाने के लिए वरदान है विटामिन E के कैप्सूल्स

यह प्राणायाम ब्लड को प्यूरिफाई करता है साथ ही मानसिक व शारीरिक रूप से शांति मिलती है। शरीर स्वस्थ रहता है। इस आसन की विधि इस प्रकार है:

yoga

  • सुखासन या पद्मासन की स्थिति में बैठ जाएँ।
  • जीभ को रोल करके ट्यूब जैसा बना लें या मुँह से छोटा सा ओ बनाएँ।
  • मुँह से साँस लें और नाक से सांस बाहर की तरफ छोड़ें।
  • इस प्रक्रिया को 10 से 15 बार दोहराएँ।

बच्चों के लिए योग एक बहुत ही अच्छा व्यायाम है और इन्हें करने से बच्चों का मानसिक एवं शारीरिक संतुलन सही बना रहता है। योग एजुकेशन बच्चों के लिए बहुत जरुरी है जिसके परिणाम सकारात्मक ही है।

इसे भी पढ़ें: दिवाली पर बनाएं रंगोली के यह बेस्ट डिजाइन

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.