शेयर करें
PREGNANCY AND SWELLING

गर्भावस्था के दौरान महिला को अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जैसे- वजन बढ़ना, पीठ दर्द, सिर दर्द, चक्कर आना आदि। इन्हीं समस्याओं में से एक है, पैरों में सूजन का आना। अगर इन दिनों आपके पैर का साइज आपके पेट से बड़ा होता जा रहे है, तो ये स्थिति गंभीर हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था में गैस बनने का कारण

आइये जानते हैं  कि आखिर वो कौन से कारण होते  है जिसकी  वजह से आपके पैरों में  सूजन आती है।

  • गर्भाशय के कारण नसों पर दबाव बनता है, जिस वजह से ब्‍लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है। इस प्रकिया में दिल तक खून शरीर के और अंगों द्वारा  सही प्रकार से नहीं पहुंच पाता है, जिस कारण पैरों में सूजन शुरु हो जाती है। इस अवस्था को इडिमा कहा जाता है ।
  • कई बार कम प्रोटीन और हीमोग्लोबिन के कारण भी पैरों में सूजन की समस्या रहती है।
  • गर्भावस्था में महिला के शरीर में हार्मोन्स की मात्रा बदलने लगती है। जिससे शरीर में पानी की मात्रा पर असर पड़ता है। शरीर के कोने वाले हिस्से जैसे की हाथों की उँगलियों और पैरों के बॉडी सेल्स में पानी भरने के कारण वह सूजे(फूले) नज़र आते हैं और पैर थोड़े भारी भी हो जाते हैं।
  • गर्भवती महिलाओ के यूरिन में प्रोटीन की मात्रा बढ़ने से भी कई बार महिलाओ के पैरो में सूजन की समस्या हो सकती है।
  • गर्भावस्था में ज्यादा समय तक पैरो को लटका कर बैठने से भी  पैरो में सूजन की समस्या हो सकती है।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओ को थकावट महसूस होने लगती है, और वो चलना फिरना बहुत कम कर देती है जिससे ब्लड सर्कुलेशन कम होने के कारण भी महिलाओ को पैरो में होने वाली सूजन की समस्या का सामना करना पड़ सकता  है।
  • गर्भावस्था के दौरान ज्यादा समय तक खड़े होने के कारण भी महिलाओ को पैरो में होने वाली सूजन की समस्या हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था में गैस की समस्या से निजात पाने के घरेलु उपाय

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी