शेयर करें
pregnancy and protein

गर्भाअवस्था में माँ का सही खान पान लेना जरुरी है क्योकि माँ के खान पान का सीधा असर बच्चे के विकास से जुड़ा होता है। कभी कभी महिलाये प्रेगनेंसी के दौरान अधिक खाने लगती है, जो की सही नहीं है बल्कि उचित खाने की मात्रा को सही मात्रा में पोषक तत्व के साथ लेना चाहिए। इस अवस्था में माँ को सही मात्रा में प्रोटीन अपने आहार के रूप में लेना अत्यंत आवश्यक होता है क्योकि ये बच्चे को माँ के गर्भ में बढ़ने के लिए मदद प्रदान करता हैं। प्रेगनेंसी के समय उचित भोजन द्वारा आपको आवश्यक विटामिन और पोषक तत्व मिलते है जो की गर्भावस्था संबंधी जटिलताओं के खतरे को कम करने में मदद करते है।

इसे भी पढ़ें: इन घरेलू उपायों से पाएं गर्भावस्था के दौरान होने वाली खुजली से निजात

जानते है गर्भावस्था में किन भोज्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए :

हरे पत्तों वाली सब्जियां: फोलिक एसिड मानव शरीर के रीढ़ की हड्डी के विकास के लिए जरुरी होता है। इसकी कमी होने के कारण जन्मदोष होने की संभावना हो सकती है। हरी पत्तेदार सब्जियां में फोलिक एसिड और बायोटिन दोनों उपयुक्त मात्रा में पाया जाता है। इसलिए गर्भाअवस्था में खूब हरी पत्तेदार सब्जिया शामिल करना चाहिए। फूलगोभी में लोहा, कैल्शियम, बीटा – कैरोटीन, विटामिन C बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। सके सेवन से आपको कैंसर और ट्यूमर होने कि सम्भावना भी कम हो जाती है। हरी फूलगोभी के सेवन से हड्डी भी मजबूत होती है ।

इसे भी पढ़ें: बदलते मौसम में कैसे रखें अपने शिशु का ध्यान, पढ़ें यहां

  • सोया: गर्भाअवस्था में माँ को प्रोटीन के लिए सोया को पकाकर या सोया मिल्क पीना चाहिए। क्योकि सोया प्रोटीन का अच्छा स्रोत हैं। गर्भाअवस्था में माँ को सप्ताह में 30 ग्राम सोया का सेवन करना जरुरी होता है।
  • दालें और अंकुरित अनाज: दोनों ही प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत माने जाते हैं। कम से कम हर रोज़ 30 ग्राम अंकुरित अनाज या दालो का सेवन इस अवस्था में जरुरी होता है।
  • आयरन: गर्भाअवस्था के दौरान प्रतिदिन 27 मिलीग्राम आयरन की आवश्यकता होती है। अतः अधिक से अधिक आयरन युक्त भोजन करने से बच्चे के शारीर को माँ के खून से ज्यादा से ज्यादा Oxygen मिलता है जिससे बच्चे का विकास सही प्रकार से होता है।
  • कैल्शियम: कैल्शियम बच्चे की हड्डियों और दांतों के विकास के लिए बहुत आवश्यक होता है। बच्चे के शरीर के विकास के लिए कैल्शियम माँ के शारीर से लिया जाता है अतःगर्भवती महिला को उचित मात्रा में कैल्शियम युक्त भोजन करना जरुरी होता है।

इसे भी पढ़ें: पिता बनने का एहसास, पुरुषों में क्या लाता है बदलाव

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी