Home हेल्थआंखों की समस्या आंखों के फड़कने के पीछे क्या है राज

आंखों के फड़कने के पीछे क्या है राज

by Healthnews24seven Desk
secret behind eye flare

जब भी हमारी आंख फड़कती है तो हमारे मन में ये विचार आता है कि ये अच्‍छे संकेत है या फिर कुछ बुरा होने का संकेत है। ज्‍योतिष शास्‍त्र के अनुसार हमारा शरीर हमें कई तरह के संकेत देता है, अंगों का फड़कना भी संकेत का ही सूचक है। आंखों का फड़कना एक शारीरिक प्रकिया है। वैज्ञानिक भाषा में इसे ‘मायोकेमिया’ कहा जाता है । ये एक आम प्रक्रिया है जिसे ना ही बुरा और ना ही अच्छा होने से जोड़ सकते हैं। आंखों की ही तरह शरीर के दूसरे हिस्‍सों में भी आपने कई बार ऐसी फड़फड़ाहट महसूस की होगी। दरअसल ये हमारे शरीर की एक सामान्‍य प्रक्रिया है। कई बार मांसपेशियों में अपने आप खिंचाव और रिलीज की प्रक्रिया होने लगती है इस स्थिति में रक्‍त का प्रवाह प्रभावित होता है और मांसपेशियों में धप-धप जैसी प्रक्रिया होने लगती है। बाहर से ये फड़फड़ाहट जैसी लगती है, जिससे बहुत अधिक उलझन और परेशानी होती है, परन्तु इससे किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें: आसान एक्सरसाइज द्वारा घर बैठे बढ़ाये आंखों की रोशनी

कारण :

  • यदि आप अधिक तनाव के चलते सही से सो नहीं पाते हैं तो इसकी वजह से भी आपकी आंखों में परेशानी उत्पन्न हो सकती है।
  • कई बार आखों की थकान, आंखों में किसी एलर्जी की वजह से भी आंखें फड़कने लगती हैं।
  • बहुत देर तक कंप्यूटर या फिर लैपटॉप पर काम करने की वजह से भी आंखों के फड़कने या उनसे पानी आने की दिक्कत सामने आ जाती है।
  • कभी कभी आंखों के सूखेपन की वजह से भी उनमें खुजली और आंख फड़कने जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • बहुत अधिक मात्रा में कैफीन और शराब के सेवन से आखों में मैग्नीशियम की कमी हो जाती है। जिसकी वजह से भी आंखों के फड़कने की समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: आंखों को स्वस्थ रखने के आसान और कारगर उपाए

कैसे करें आंख फड़कना बंद

  • अपनी उंगलियों की सहायता से आंखों के आस-पास की मांसपेशियों पर हल्की-हल्की मॉलिश करने से आंख की मांसपेशियों को आराम मिलता हैं और उनका फड़कना बंद हो जाता है।
  • आंखों के फड़कने पर आखों को गुनगुने पानी से धोने से बहुत आराम मिलता है।
  • जोर-जोर से पलकें झपकाने और आंखों को अधखुली अवस्था में रखने जैसी हलकी फुलकी एक्सरसाइज करने से भी यह समस्या दूर हो जाती है।
  • आंखों की इस प्रकार की समस्या बहुत ही कम समय में सही हो जाती हैं, परन्तु यदि एक हफ्ते से अधिक दिनों तक आंख फड़कना बंद ना हो तब ऐसी अवस्था में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यह आंखों की किसी गंभीर समस्या का भी संकेत हो सकता हैं।

इसे भी पढ़ें: अगर आपको आंखों के आगे दिखते हैं काले धब्बे, तो हो जाएं सर्तक, हो सकता है ये रोग

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.