शेयर करें
pregnancy

माँ बनना एक विवाहित महिला के लिए भगवान् का वरदान माना जाता है। गर्भावस्थां के हर महीने में महिला अलग-अलग प्रकार के  बदलाव का अनुभव करती है। ये बदलाव हर महिला में अलग अलग होते हैं। अधिकाशतः देखा गया है की कई महिलाएं गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीनो को बहुत ही हल्के में लेती है परन्तु ऐसा नहीं है ये शुरूआती तीन महीने बहुत ही महत्वपूर्ण होते है इन तीन महीनों में महिलाओं को बहुत ही सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। क्योकि इस दौरान गर्भ में भ्रूण का विकास होना शुरू होता है जिसकी वजह से महिला के शरीर को कई तरह के शारीरिक और हार्मोनल बदलावों से गुजरना पड़ता है। इस आर्टिकल द्वार हम आपको बताएंगे की गर्भावस्थां के शुरू के तीन महीनों में महिलाओं को किन चीजों से परहेज रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीनों में किन खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें

  • शुरूआती तीन महीनों में कच्चे मांस, कच्चे अंडे और पनीर आदि के सेवन से बचाना चाहिए।
  • शराब और सिगरेट का सेवन बिलकुल भी न करें। शराब गर्भनाल द्वारा भ्रूण के खून में पहुंच कर उसके शारीरिक और मानसिक विकास में बाधाएं पैदा कर सकती है।
  • गर्भावस्था के दौरान तनाव से दूर रहे जितना हो सके, खुश रहने का प्रयास करें  क्योकि अधिक तनाव गर्भपात का कारण हो सकता है।
  • गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीने खासतौर पर कोई भी भारी समान उठाने से बचना चाहिए, क्योकि भारी समान उठाने से पेट पर जोर पड़ने के कारण गर्भपात का खतरा हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान भाग-दौड़ व् अधिक मेहनत वाले व्यायाम नहीं करना चाहिए क्योकि कई बार भारी व्यायाम करने से पेट पर भी जोर पड़ता हैं जो की गर्भावस्था के लिए हानिकारक हो सकता हैं।
  • अपनी दिनचर्या में कुछ हल्की एक्सरसाइज को जरूर शामिल करना चाहिए, जिससे आप एक्टिव बने रहेंगे। यदि इन हल्की एक्सरसाइज के बारे में ज्ञान न हो तो अपने डॉक्टहर से इस बारे में जानकारी प्राप्त करें।
  • गर्भावस्था के समय बिना डॉक्टर के परामर्श के बिना कोई भी दवा का सेवन न करें।
  • गर्भावस्था के शुरूआती तीन महीने तक सम्भोग से बचे क्योकि यह भ्रूण को नुकसान पंहुचा सकता है, बेहतर होगा अपने डॉक्टर की सलाह के बिना सम्भोग न करें।

इसे भी पढ़ें: इन घरेलू नुस्खों से तुरंत पता लगाएं की आप गर्भवती हैं की नहीं

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी