शेयर करें
Guggal ke fayde

गुग्गुल आयुर्वेद में बहुत गुणकारी माना जाता है। इससे  कई बीमारिया खत्म हो जाती है। गुग्‍गुल कफ, वात, कृमि और अर्श नाशक होता है। इसके अलावा इसमें सूजन और जलन को कम करने के गुण भी होते हैं। गुग्गुल एक वृक्ष का नाम है। इससे प्राप्त लार जैसे पदार्थ को भी ‘गुग्गल’ कहते है। इसकी महक मीठी होती है और आग में डालने पर वह स्थान सुंगध से भर जाता है। आइए आपको बताते हैं किन समस्याओं में फायदेमंद है गुग्गुल।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है लोबिया

मेटाबॉलिज्म बेहतर करे गुग्गुल

गुग्गुल के सेवन से आपका मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है। अगर आपका मेटाबॉलिज्म कमजोर हो जाए, तो आपको कई तरह की समस्याएं हो जाती हैं जैसे- वजन घटने लगना, कमजोरी होना, थकान और आलस की समस्या आदि। गुग्गुल आपकी पाचन क्रिया को ठीक करता है, जिससे मेटाबॉलिज्म बेहतर हो जाता है। इसके अलावा ये थायरॉइड की समस्या को भी कम करता है।

इसे भी पढ़ें: मानसिक व्यग्रता क्या है और इसके दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं ?

कोलेस्ट्रॉल कम कर दिल के रोगों से बचाए गुग्गुल

गुग्गुल के प्रयोग से शरीर से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को घटाया जा सकता है। कई वैज्ञानिक शोधो में यह पता चला है कि गुग्गुल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इस कारण इसे दिल के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। दिल की ज्यादातर समस्याओं का कारण बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल होता है। रक्तचाप के स्तर को कम और सामान्य स्तर पर बनाए रखने में गुग्‍गुल बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा गुग्‍गुल दिल को स्वस्थ रखता है।

इसे भी पढ़ें: इन घरेलु उपायों से पल भर में भगाएं माइग्रेन का दर्द

कैसे करें गुग्गुल का सेवन

गुग्गुल एक तरह का गोंद होता है इसलिए इसे इस्तेमाल करने के लिए इसे पीसकर पाउडर बना लें। अब रोजाना 1 से 2 ग्राम गुग्गुल पाउडर को गर्म पानी या दूध के साथ पिएं। गुग्गुल का सेवन करने के लिए इसे त्रिफला के काढ़े और दूध में पका लें। सर्दियों में आप दिन में 3 बार इसका सेवन कर सकते हैं जबकि गर्मियों में दिन में 1 या 2 बार ही इसका सेवन करना चाहिए। दरअसल गुग्‍गुल की प्रकृति गर्म होने के कारण इसका ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने पर इसे गाय के दूध या घी के साथ सेवन करें। साथ ही इसका प्रयोग करते समय तेज और मसालेदार भोजन, अत्याधिक भोजन, या खट्टे खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।