Home फिटनेस ताड़ासन योग को करने का तरीका और सावधानियां

ताड़ासन योग को करने का तरीका और सावधानियां

by Mahima
tadasan yoga method and precautions

ताड़ासन को करते समय व्यक्ति ताड़ वृक्ष’ के समान मुद्रा में दिखता है। इसीलिए इसे ताड़ासन कहते हैं यह एक बहुत ही सरल आसन है इसे किसी भी आयु के व्यक्ति आसानी से कर सकते है। ताड़ासन योग इसका जितना भी विवरण दिया जाये कम है। इस योग को अपनाने से पूरा शरीर लचीला बनता है। इस योगासन द्वारा सूछ्म मांसपेशियों को भी काफी हद तक लचीला बनाया जा सकता है। यह योगाभ्यास आपको चुस्त दुरुस्त ही नहीं करता बल्कि आपके शरीर को सुडौल एवं खूबसूरती भी प्रदान करता है। इसको अपनाने से शरीर की जमी हुई चर्बी पिघल जाती है जिससे आपकी पर्सनालिटी आकर्षक लगती है। लाभ के साथ साथ इसके कुछ सावधानियां भी हैं।

इसे भी पढ़ें: ताड़ासन को अपनी दिनचर्या में शामिल करके पाएं इन स्वास्थ्य लाभों को:

ताड़ासन करने की विधि :

  • इस योग का अभ्यास खुले स्थान या पार्क आदि में करना चाहिए जिससे शुद्ध वायु शरीर के अंदर जा सकें।
  • एक समतल स्थान पर सीधे खड़े हो जाए।
  • अपनी कमर एंव गर्दन को सीधा कर लें।
  • फिर शरीर को ढीला छोड़ते हुए धीरे-धीरे साँस ले।
  • फिर दोनों हाथों की हथेलियो को आपस में मिलाकर आकाश की ओर ले जाये।
  • अब अपने पूरे शरीर को अपने पंजो के बल पर जमीन से ऊपर उठा ले और शरीर का पूरा वजन पंजो पर रखे।
  • अब पूरे शरीर की ऊर्जा को ऊपर की ओर खींचे और इस स्थिति में सांसों को अन्दर भरकर 1 से 2 मिनट तक रोके रहे, फिर इसके बाद धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में लौट आये। फिर थोड़ा आराम करके दोबारा इस पूरी क्रिया को दोहराये।
  • इस सम्पूर्ण क्रिया को 8 से 10 बार दोहराये।

इसे भी पढ़ें: कारण जिनसे मैडिटेशन को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए

ताड़ासन की सावधानियां :

  • ताड़ासन उन लोगों को नहीं करना चाहिए जिनके घुटने में बहुत ज्यादा दर्द हो।
  • गर्भवती महिला को भी यह आसन नही करना चाहिए। इससे मां और शिशु दोनों को नुकसान हो सकता है।
  • अगर रक्तचाप ज्यादा या कम हो तब भी इस आसन को करने से बचना चाहिए।
  • अगर आप इस आसन को करना सीख रहें हैं तो पैरों की उंगलियों पर आकर इस योगाभ्यास को ना करें।
  • हमेशां दोनों पैरों पर समान्तर वजन दे।
  • शरीर के संतुलन का ध्यान रखे।
  • ताड़ासन करने के पश्चात शीर्षासन से सम्बंधित कोई आसन जरुर करे।

इसे भी पढ़ें: मन को करना है शांत तो रोज करें ध्यान

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.