Loading...

पौधे लगाकर अपने घर की बालकनी को दें सुन्दर रूप

by Mahima
balcony

अपने घर को साफ़ सुथरा तथा सजा सवरा देखना किसको अच्छा नहीं लगता है और घर को पेड़ पौधों से सजा दिया जाये तो उसमें चार चाँद ही लग जाते हैं। घर छोटा हो या बड़ा जिसको गार्ड़िंग का शौक होता है वो किसी न किसी रूप में अपने शौक को पूरा कर ही  लेता हैं।  घर के अंदर पौधों की उपस्थिति शांति और पूर्ति की भावना का अहसास कराती है। पौधों का हरा रंग हमारे मानसिक तनाव को कम करने में मददग़ार होता है साथ ही हमारे आस पास के वातावण की हवा को शुद्ध करने में भी सहायक होता है। आप चाहें तो अपने घर की बालकनी को कुछ पौधों और लाइटनिंग की मदद से सुन्दर रूप प्रदान कर सकते हैं। बालकनी को सजाने के लिए बालकनी की बनावट को अच्छी तरह से समझना आवशयक होता है।

इसे भी पढ़ें: वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा होना चाहिए घर का नक्शा

आइए जानते हैं किस प्रकार बालकनी को पौधों द्वारा सजा सकते हैं :

किस प्रकार की मिट्टी का प्रयोग करें :   

पौधे लगाने के लिए मिट्टी अहम् भूमिका रखती है इसके लिए अच्छी और उपजाऊ मिट्टी का प्रयोग ही करना चाहिए। इसके लिए मिटटी को  2-3 दिनों तक धूप में खुला छोड़ दें। इससे मिट्टी में मौजूद कीड़े-मकोड़े और फफूंद खत्म हो जाएंगे। फिर मिट्टी में कंपोस्ट खाद या गोबर की खाद अच्छी तरह मिलाकर गमलों में भर दें। गमलों को ऊपर से करीब एक-तिहाई खाली रखें ताकि पानी डालने पर मिट्टी और खाद बहकर बाहर न निकले।

बालकनी में पौधों का चयन किस प्रकार करें :

अगर आपकी  बालकनी बहुत छोटी है तो गमले रखने की बजाय केवल लटकने वाले पौधे लगाएं।बालकनी की दीवारों और उसकी बीम पर गमलों को लटका सकती हैं। आजकल लोहे के तार पर प्लास्टिक चढ़ी टोकरियां आती हैं, जिनमें आप  पौधे लटका सकती हैं। बालकनी में यदि रेलिंग है तो उसमें गमले रखे जा सकते हैं। बस एक बात का ध्यान रखें कि गमलों के नीचे ऊंचे किनारों वाली एक तश्तरी जरूर रखें, इससे पानी नीचे नहीं गिरेगा। रेलिंग के आसपास अंगूर की बेल या टिकोमा आदि लटका सकती हैं। इससे बालकनी की खूबसूरती और बढ़ जाएगी।

इसे भी पढ़ें: मानसून के मौसम में आकर्षक लगने के लिए अपनाए ये टिप्स

यह जरूरी नहीं है कि आप बालकनी में ढेरों पौधे लगाएं। आप उतने ही पौधे लगाएं जिनकी देखरेख आसानी से कर सकती हैं। पौधों युक्त बालकनी न सिर्फ आपके दिल-दिमाग को सुकून पहुंचाती है, बल्कि देखने वालों को भी सुकून पहुंचाती है।

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.