Loading...

पैनिक अटैक आने पर करें ये काम, नहीं होगा सेहत को नुकसान

by Mahima
panic attack

पैनिक अटैक जो व्यक्ति को कभी भी कहीं भी आ सकता है। यह अटैक इतना अचानक होता है कि कई बार लोगों को समझ ही नहीं आता है कि वह ऐन वक्त में मरीज के साथ क्या करें। इसलिए हमें इस बारे में सभी जरूरी जानकारी पता होनी चाहिए। पैनिक अटैक 15 सेकण्ड से लेकर 1 घंटे की अवधि तक भी रहता है। कहा जाता है कि पैनिक अटैक का अनुभव, किसी व्यक्ति की जिंदगी के सबसे भयावह, कष्टप्रद और असहज अनुभवों में से एक होता है।

इसे भी पढ़ें: इन घरेलु उपायों से पल भर में भगाएं माइग्रेन का दर्द

क्या हैं पैनिक अटैक के लक्षण

पैनिक अटैक एक संवेदनशील तंत्रिका तंत्र (एसएनएस) की प्रतिक्रिया है। सबसे सामान्य लक्षणों में कंपन, सांस लेने में कठिनाई, दिल का तेजी से धड़कना, सीने में जकड़न, हॉट फ़्लैश, कोल्ड फ्लैश, जलन का अनुभव, पसीना, मिचली, चक्कर आना, सिर में हल्कापन महसूस होना, सांसें तेज चलना, सांसों में रुकावट या दम घुटने की अनुभूति और मस्तिष्‍क में कमजोरी शामिल हैं। पैनिक अटैक के दौरान आपके शरीर अधिक ऑक्‍सीजन और जल्‍दी-जल्‍दी सांस लेने की कोशिश करता है। यह यकीनन बहुत ही अप्रिय स्थिति है। लेकिन घबराइए नहीं, क्‍योंकि कई घरेलू उपचार की मदद से प्रभावी ढंग से पैनिक अर्टक के लक्षणों से राहत पाई जा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: माइग्रेन के कारण और इसके लक्षण

ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी में एंटीऑक्‍सीडेंट और पॉलीफिनॉल मस्तिष्‍क को तनाव कम करने और मोनोमाइन ऑक्सीडेज की गतिविधि को कम कर मस्तिष्क की कोशिकाओं और ऊतकों के स्वास्थ्य में मदद करता है। साथ ही पॉलीफिनॉल पैनिक अटैक से जुड़े तनाव को कम करने में भी मदद करता है। सामाजिक कारकों के कारण होने वाले पैनिक अटैक को कम करने के लिए आपको ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। अधिक लाभ पाने के लिए ग्रीन टी के कम से कम तीन कप पीने चाहिए।

संतरा करता है तुरंत फायदा

विटामिन से भरपूर होने के कारण रक्‍तचाप को बनाये रखने के साथ पैनिक अटैक को कम करने में मदद करता है। संतरा पैनिक अटैक के दौरान न्‍यूरॉन्‍स को शांत करने में मदद करता है। इसके अलावा यह सुखदायक प्रभाव प्रदान कर पैनिक अटैक को रोकने में मदद करता है।

किसी वरदान से कम नहीं है सालमन

समुद्री आहार ओमेगा-3 फैटी एसिड का सबसे अच्‍छा स्रोत है और सालमन मछली में सबसे ज्‍यादा ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। मस्तिष्क के विभिन्न हिस्‍सों में बहने वाले असममित रक्त प्रवाह को पैनिक अटैक के लिए दोषी माना जाता है। लेकिन सालमन जैसे खाद्य पदार्थ मस्तिष्क के कामकाज को बनाए रखने के लिए ऑक्सीजन, ग्लूकोज और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की आवश्यक राशि मस्तिष्क की कोशिकाओं को प्रदान करते हैं।

 

Loading...

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.