शेयर करें
natural lubrication

सभी महिलाओं की योनि में प्राकृतिक लुब्रिकेशन और नमी होती है और यह लुब्रिकेशन उस समय और बढ़ जाता है, जब वह उत्तेजित होती है लेकिन कुछ महिलाओं में शारीरिक तथा भावनात्मक बदलाब के चलते प्राकर्तिक लुब्रिकेशन कम हो जाता है जो उनकी सेक्स लाइफ में रूकावट पैदा करता हैं। ऐसी परिस्थिति में आप बाजार में उपलब्ध अनेकों आर्टिफिशल लुब्रिकेशन का भी प्रयोग कर सकती हैं। कुछ महिलायें आर्टिफिशल लुब्रिकेशन के प्रति संबेदनशील होती हैं ऐसे में प्राकर्तिक लुब्रिकेंट का प्रयोग की उचित होता है।

इसे भी पढ़ें: इन प्राकृतिक लुब्रिकेशन के प्रयोग से बनाये अपनी सेक्स लाइफ को और भी खुशहाल

आइये जानते हैं आप के लिए किन प्राकर्तिक लुब्रिकेंट का प्रयोग उचित होगा :

नारियल का तेल : नारियल का तेल हर मायने में आर्टिफिशल लुब्रिकेंट से बेहतर ऑप्शन होता है। नारियल तेल का लुब्रिकेशन तकरीबन वैसा ही होता है, जैसा महिला के प्राइवेट पार्ट का नैचरल लुब्रिकेशन। नारियल तेल एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल भी होता है जिससे कि ये आपकी वैजाइना को इंफेक्शन से भी दूर रखता है।

अलसी के बीज का तेल : इसके लिए आपको तीन चम्मच अलसी के बीज को दो कप पानी में 20 मिनट उबालना है। फिर छानकर पानी को ठंडा करके फ्रिज में रखें और ज़रूरत पर लुब्रिकेन्ट के रूप में यूज़ करें।

इसे भी पढ़ें: सेक्स करने से हैं अनेकों स्वास्थ्य लाभ

एलोवेरा जेल : आप प्रकृतिक रूप से लुब्रिकेशन के लिए एलोवेरा जेल का प्रयोग भी कर सकती है। थोड़े से एलोवेरा के गूदे को मिक्सर में पीसकर फ्रीज में रख लें और आवश्यकता होने पर इसका इस्तेमाल करें।

जैतून का तेल : योनि की ड्राईनेस को दूर करने के लिए जैतून के तेल का प्रयोग अच्छा प्रकृतिक विकल्प होता है।

सलाइवा: अगर आप इनमें से कोई घरेलू उत्पाद का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो आप सलाइवा का इस्तेमाल कर सकतें हैं । यह विकल्प भी अच्छा लुब्रिकेशन साबित होता है परन्तु ध्यान  रहें  आप या आपका पार्टनर किसी मुँह के  संक्रमण  से ग्रषित न हो, जैसे सूजन वाले मसूड़े ,कोई दांतों का इन्फेक्शन या जीभ या मुँह में घाव । क्योकि ऐसा करने से इन्फेक्टेड बैक्टीरिया और वायरस आसानी से लार के साथ  आपके जननांगों तक पहुंच कर खतरनाक संक्रमण पैदा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सेफ सेक्स द्वारा किस प्रकार यौन संचारित बीमारियों से दूर रहें

रिपोर्ट: डॉ. हिमानी