Home लाइफ स्टाइलखानपान एक चम्मच देशी घी के सेवन से करें सम्पूर्ण शरीर को स्वस्थ

एक चम्मच देशी घी के सेवन से करें सम्पूर्ण शरीर को स्वस्थ

by Mahima
ghee

भगवान के सामने दिया जलाना हो या फिर दाल में स्वाद बढ़ाना हो, शुद्ध घी हर जगह काम आता है।  लगभग हर देश में देसी घी पाया जाता है और हमारे भारत में तो हर घर में देसी घी पाया जाता है अगर भारत में घर में रसोई में देसी घी नहीं है तो उसकी रसोई खाली मानी जाती है। शरीर को अपने आहार में कुछ न कुछ फैट की जरूरत पड़ती है, जिससे वह पेट की दीवार की सुरक्षा पाचन एसिड से कर सके, सैल मेंबरेन को मजबूती दे सके और त्वचा तथा दिमाग को स्वस्थ्य रख सके। घी यह सब कुछ करता है वह भी बिना किसी साइड इफेक्ट के। घी में  न केवल कैलोरी बल्कि इसमें विटामिन ए, डी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मिनरल्स, पोटैशियम जैसे कई पोषक तत्व उपस्थित होते हैं। यदि घी पूरी तरह शुद्ध है तो उसमें न ही लैक्‍टोज़ और न ही नमक पाया जाता है।

इसे भी पढ़ें: चोकर युक्त आटे में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के फायदे जानकर रह जायेंगे दंग

आइये जानते हैं घी का सेवन करने से किस प्रकार के लाभ होते हैं:

  • शुद्ध घी को रोज खाने से शारीरिक और मानसिक शक्ति मिलती है जिसकी वजह से शरीर स्वस्थ रहता है।
  • घी के सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ निकलते हैं तथा इसका नियमित रूप से सेवन आंखों की ज्‍योति बढ़ाने में मददगार होता है और मांसपेशियों में मजबूती लाता है।
  • देसी घी में विटामिन K2 होता है जो हमारी हड्डियों को कैल्शियम प्रदान करता है।
  • देसी घी में अधिक मात्रा में फैट होता है जो हमारे वजन को बढ़ाने में हमारी सहायता करता है यह हेल्दी तरीके से हमारा वजन बढ़ाता है।
  • प्रेग्नेंट महिला के घी का उचित मात्रा में सेवन करने से गर्भस्थ शिशु बलवान, पुष्ट और बुद्धिमान होता है।
  • जो व्यक्ति कोलेस्‍ट्रॉल की समस्‍या से जूझ रहे हों, उन्‍हें बटर के स्थान पर शुद्ध घी खाने से बहुत लाभ होता है क्योंकि इसका सेवन चर्बी कम करता है।
  • शोधों से यह बात सिद्ध हुई है कि गाय के शुद्ध घी में कैंसररोधी गुण उपस्थित होते हैं। इसके रोजाना नियमित सेवन से कैंसर होने की संभावना बहुत कम हो जाती है। विशेषकर यह स्तन, आंत और माउथ कैंसर में बहुत ही लाभकारी होता है।
  • हमारे शरीर को सही रूप से काम करने के लिए कुछ मात्रा में फैट कि जरुरत होती है। यह फैट हमारी पेट की दीवार की सुरक्षा पाचन एसिड से करता है और सेल मेम्ब्रेन को मजबूती प्रदान करके त्‍वचा तथा दिमाग को स्‍वस्‍थ रखता है।

इसे भी पढ़ें: कितना प्रोटीन, वसा तथा कैलोरी होना चाहिये एक लीटर दूध में ?

 रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.