शेयर करें

जहां मोटापा कई लोगों के लिए एक समस्या है वही कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनके लिए पतलापन भी एक समस्या है। पतले लोग भी अपने आप को सेहदमंद बनाकर समाज में आकर्षित दिखना चाहते है। वजन बढ़ाने में व्‍यायाम के साथ-साथ स्‍वस्‍थ आहार की बहुत जरूरत होती है। यदि आप अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो अपने आहार में पोषक तत्‍वों को शामिल करना अत्यंत आवशयक होता है। वजन बढ़ाने के लिए आहार में कैलोरी, वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेड की बहुत जरूरत होती है।

इसे भी पढ़ें: योग का प्रयोग लाभकारी है वजन बढ़ाने में

आइए जानते हैं वजन बढ़ाने वाले आहारों के बारे में:

सैल्मन मछली: सैल्मन मछली गुणवत्ता वाले  प्रोटीन, विटामिन और खनिज (पोटेशियम, सेलेनियम और विटामिन बी 12 सहित) का उत्कृष्ट स्रोत है। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भी पाया जाता है जो महिलाओं के लिए बहुत ही अच्छा फूड सप्लीमेंट है। इसमें प्रोटीन होने की वजह से यह वजन बढ़ाने में बहुत ही मददगार होता है।

अंडा :अंडे में फैट और कैलोरी  भरपूर मात्रा में होती हैं और इसका रोजाना सेवन करने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती है।

केला : केले में भरपूर मात्रा में कैलोरी होती हैं जो शरीर को ना सिर्फ एनर्जी देती हैं बल्कि वजन बढ़ाने में भी मदद करती है। केला आप दूध के साथ भी खा सकते हैं, इसके अलावा केले का शेक बनाकर भी पी सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सूर्य दर्शन नहीं किसी योग से कम

बादाम: 3-4 बादाम रातभर पानी में भिगोकर रख दें और अगले दिन पीसकर दूध में घोलकर पी लें। एक महीने तक रोजाना ऐसा करने से वजन बढ़ेगा।

पीनट बटर : जब आपको कम समय में वजह बढ़ाना हो तो आपको पीनट बटर खाना शुरू कर देना चाहिए। क्योकि इसकी हर सर्विंग से आपको 190 कैलरी मिलती है। पीनट बटर में हाई कैलोरी तो होती ही हैं साथ ही इसमें कार्बोहाइड्रेट्स भी भरपूर मात्रा में होते हैं।

दही : दही विटामिन बी12 सहित कई विटामिन से भरपूर होता  है। इसके अलावा यह पोटेशियम, फास्फोरस, रिबोफ़्लिविन, आयोडीन, जिंक, और विटामिन बी 5 (पैंटोफेनेनिक एसिड) का महत्वपूर्ण स्रोत है। यह लाल रक्त कोशिकाओं को बनाए रखने में बहुत ही मदद करता है और अपने तंत्रिका तंत्र को ठीक ढंग से कार्य करने में मदद करता है। जल्दी वजन में वृद्धि के लिए इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करना लाभकारी होता है।

इसे भी पढ़ें: रोजना करें गोरक्षासन, नहीं होंगी शरीर में यह परेशानी

रिपोर्ट : डॉ.हिमानी