Home लाइफ स्टाइल आप भी सुबह 8 बजे के बाद उठते हैं तो जल्द सुधार लें यह आदत

आप भी सुबह 8 बजे के बाद उठते हैं तो जल्द सुधार लें यह आदत

by Darshana Bhawsar
Early Morning Wakeup

कई लोगों की आदत होती है सुबह लेट उठने की, अगर आप भी सुबह लेट उठते हैं तो आपको इसका ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि सुबह जल्दी उठना शरीर के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। समय पर उठना और समय पर सोना बहुत जरूरी होता है। अगर आप ऐसा नहीं करते तो आपके शरीर में कई बीमारियाँ जन्म ले लेती हैं। कहा जाता है कि 5 से 8 घंटे की नींद लेना चाहिए, जिससे डायबिटीज एवं हाई ब्लड प्रेशर से बचाव हो सकता है। और यह नींद रात की होना चाहिए, ऐसा नहीं है कि आप दिन में कभी भी सो रहे हैं सुबह कभी भी सो रहे हैं। सुबह 8:00 बजे के बाद कभी भी नहीं सोना चाहिए। सुबह 8:00 बजे के पहले ही आपको उठ जाना चाहिए इससे कई बीमारियों से आप दूर रह सकते।

Read More: इन 10 टिप्स को अपनाकर पूरे दिन रहें एक्टिव

अगर आप सुबह 8:00 बजे के बाद उठते हैं तो इन पांच बातों को जान ले:

  1. मोटापे का शिकार हो सकते हैं
  2. हृदय के लिए खतरा
  3. तनाव का शिकार हो सकते हैं
  4. दिमाग पर भी पड़ता है असर
  5. आलस बना रहता है

मोटापे का शिकार हो सकते हैं:

अगर आप ज्यादा देर तक सोते हैं या आप सुबह 8:00 बजे के बाद तक सोते रहते हैं तो आपको मोटापे परेशानी हो सकती है। आपको शरीर थुलथुला हो सकता है आपके शरीर में एक नकारात्मक ऊर्जा प्रवाह करने लगती है। जिससे कि आपके शरीर की जो गतिविधियां होती है वह कम हो जाती है और आप आलास से भर जाते हैं तो इस बात का विशेष ध्यान रखें।

Read More: जानिये क्यों है अच्छे स्वास्थ्य के लिए जीवनशैली और खानपान में सुधार जरूरी

हृदय के लिए खतरा:

ज्यादा देर तक सोने वालों को दिल की बीमारी का खतरा बहुत अधिक रहता है। और ऐसा बोला जाता है कि जो लोग बहुत ज्यादा सोते हैं उनको हृदय संबंधित बीमारियाँ होने का खतरा बना रहता है। लम्बे समय तक सोने से लेफ्ट वेंट्रिकुलर का वजन बढ़ जाता है और हार्ट अटैक जैसी बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है।

तनाव का शिकार हो सकते हैं:

तनाव, अवसाद या डिप्रेशन यह सभी एक ही तरीके की बीमारी है जो कि मनुष्य को आजकल बहुत ज्यादा परेशान कर रही हैं अगर आप ज्यादातर समय तक सोते हैं. तो आप तनाव से प्रभावित होते है इससे आपको डिप्रेशन हो सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि नींद मस्तिष्क में न्यूरो ट्रांसमीटर को प्रभावित करती है। अगर आप बहुत देर तक सोते हैं तो आपकी गतिविधियां कम हो जाती हैं और इस वजह से आप को तनाव संबंधित बीमारियाँ होने लगती हैं। आपके दिमाग पर तनाव बढ़ने लगता है और आप परेशान रहने लगते।

Read More: बड़े काम के हैं सूरजमुखी के बीज जानें इनके अद्भुत फायदे

दिमाग पर भी पड़ता है असर:

बहुत देर तक सोना मस्तिष्क की शक्ति को प्रभावित करता है। अगर दिन में आप बहुत ज्यादा नींद लेते हैं तो आपकी रात की नींद ख़राब होती है वह प्रभावित हो जाती है। इससे सिर दर्द जैसी समस्याएँ होने लगती हैं। ओवर स्लीपिंग से माइग्रेन जैसी समस्याएँ होने लगती हैं इसलिए कोशिश करें कि आप रात की 8 घंटे की नींद ले न कि दिन की 8 घंटे की नींद में।

आलस बना रहता है:

अगर आप सुबह लेट उठते हैं या 8:00 बजे के बाद उठते हैं तो एक अजीब प्रकार का आलस आपके शरीर में बना रहता है। तो शरीर को बायोलॉजिकल क्लॉक की प्रणाली को संतुलित करना होता है तब जाकर आप इस सुस्ती को हटा पाएंगे। अगर आपके शरीर में इस प्रकार की सुस्ती बनी रहेगी तो आपका मूड खराब रहेगा, सिर दर्द होगा पेट दर्द और थकान रहेगी और आपको अजीब प्रकार सी सुस्ती महसूस होगी।

Read More: चॉकलेट मैडिटेशन क्या है और उसके फायदे

इस बात का विशेष ध्यान रखें कि 8:00 बजे के बाद आप नींद न लें अगर आप ऐसा करते हैं तो आप इस आदत को सुधार लें जिससे कि गंभीर बीमारियाँ आपको न हो सकें।