Home स्वास्थ्य टिप्स यदि आप गुर्दे की पथरी से जूझ रहे हैं तो अपनाये ये घरेलु उपाए

यदि आप गुर्दे की पथरी से जूझ रहे हैं तो अपनाये ये घरेलु उपाए

by Dr. Himani Singh
गुर्दे की पथरी

गुर्दे हमारे शरीर का बहुत महतव्पूर्ण अंग हैं जो मूत्र के रूप में हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों और अतिरिक्त तरल पदार्थों को निकालने का कार्य करते हैं। हमारे शरीर में मूत्र के गाढ़े बनने से शरीर में पथरी  जैसी समस्याएं शुरू हो जाती हैं। शुरुआत में यह पथरी  छोटे-छोटे दाने  के रूप में होती हैं परन्तु आगे बढ़ कर यह बढ़ा आकर भी ले सकती है जो कि बहुत ही दुखदाई होता है। ऐसे  में यदि आप गुर्दे में पथरी जैसी समस्या से जूझ रहे हैं तो हमारे बताये हुए घरेलू उपपायों  को अपनाकर आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं ।

इसे भी पढ़ें: इन आसन की मदद से करें अपने मेटाबॉलिज्म को संतुलित

1. गुर्दे में पथरी को बढ़ने न देने का सबसे आसान उपाए उपयुक्त मात्रा में  पानी पीना है। अधिकांश चिकित्सक  प्रतिदिन कम से कम  आठ से दस  गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं।

2. आंवला का सेवन भी  पथरी  के इलाज में बहुत फायदेमंद होता है। आंवला का चूर्ण मूली के साथ नियमित रूप से कुछ दिन तक खाने से मूत्राशय की पथरी बहुत ही आराम से निकल जाती है।

3. नींबू में सिट्रिक एसिड पाए जाने के कारण यह कैल्शियम को जमा नहीं होने देता है। दो चम्मच नीबू का रस सुबह खाली पेट  और रात में खाना खाने से कुछ घंटे पहले लेने से छोटे आकर की पथरी को आसानी से ख़त्म किया जा सकता है।

गुर्दे की पथरी

4. तुलसी में यूरिक एसिड के स्तर को स्थिर रखने वाले यौगिक  उचित  मात्रा में पाए जाते हैं, साथ ही तुलसी में एसिटिक एसिड भी पाया जाता है, जो पथरी तोड़ने का कार्य बखूबी करता है। अतः प्रति दिन तुलसी के अर्क का एक चम्मच या तुलसी के पत्तों का रोज सेवन  आपको  गुर्दे की पथरी के  इलाज में मदद प्रदान कर सकता है।

5. जीरे और चीनी को समान मात्रा में पीसकर एक जार में पीस रख लें फिर रोज कुछ दिन तक इस मिश्रण का एक चम्मच ठंडे पानी से लें,  कुछ ही दिनों के सेवन के बाद छोटी पथरी आसानी से  निकल जायेगी।

6. गेहूँ की हरी घास का रस स्वास्थ्य के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है क्युँकि इसमे बहुत से उपयोगी पोषक तत्व पाये जाते है जो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी होते है पथरी के इलाज के लिए भी ये नुस्खा बहुत उपयोगी होता है अगर आपको पथरी है तो आप प्रतिदिन एक ग्लास घास के रस मे थोड़ा निम्बु का रस मिला कर सेवन करे इससे जल्द ही पथरी बाहर निकल जाती है।

इसे भी पढ़ें: दिल की बीमारी को जड़ से खत्म करता है योग

7. नारियल पानी में बहुत से ऐसे यौगिग पाए जाते हैं जो गुर्दे की पथरी के विघटन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। साथ ही मूत्र के दौरान होने वाली जलन से भी राहत दिलाने में  प्रभावी होता है।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.