शेयर करें
Image Credit-Facebook

यौन संचारित बीमारियां मनुष्यों में एक दूसरे के साथ असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाने से होती हैं इन बिमारियों को  सामान्यतः सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज (एसटीडी) के नाम से जाना जाता है। ये संक्रामक बीमारियाँ होती हैं। ये बीमारियाँ किसी भी उम्र के व्यक्ति में हो सकती हैं, परन्तु जो लोग सेक्सुयली एक्टिव अधिक रहते हैं उनमें इसके होने का  खतरा अधिक रहता है। सेंट्रल फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक यूएस में हर साल 20 मिलियन से ज्यादा लोग यौन संचारित रोगों का टेस्ट कराते हैं। अगर लोग अपने यौन स्वास्थ्य को लेकर निर्णय लें तो इस  प्रकार की बिमारियों को आसानी से रोका जा सकता है। असुरक्षित यौन से बचकर आप इस बीमारी से बच सकते हैं।  सेक्स संबंध बनाना शारीरिक जरूरत की तरह है।  इसलिए यह जानना जरूरी है कि सेक्सुयल ट्रांसमिटेड  डीजीज को फैलने से कैसे रोका जा सकता। सेक्स संबंध बनाना शारीरिक जरूरत होती है। इसलिए सेक्स करना नहीं रोका जा सकता परन्तु सेक्सुयल ट्रांसमिटेड डीजीज को यौन करने के सही तरीकों को जानकर  तथा  अपनाकर फैलने से रोका जा सकता।

इसे भी पढ़ें: सेक्स से पहले एक कप वनीला आइसक्रीम का सेवन बढ़ाये आपकी सेक्स पावर

सेफ सेक्स द्वारा  खुद को यौन संचारित रोगों से कैसे बचाएं:

    • सीमित संख्या के पार्टरनरों के साथ सेक्स करें।
    • पिछले सम्बन्ध में यदि किसी बीमारी से पीड़ित हों तो अपने पार्टरनर को जरूर बताएं।
    • किसी नए पार्टनर से सम्बन्ध बनाने से पहले टेस्ट जरूर कराएं।
    • सुरक्षित सेक्स करना चाहते हैं, तो अपने साथी से खुलकर बात करें ।
    • सेक्स करते समय होश न खोएं।
    • अधिक नशा करके सेक्स ना करें।
    • हेपेटाइटिस बी और ह्यूमन पेपिलोमा वायरस के लिए वैक्सीनेशन जरुर करवाएं।
    • सिर्फ अपने तौलिए का इस्तेमैल करें।
    • यदि आप यौन संचारित रोग से पीड़ित है, तो अपने पार्टनर को जरुर बताएं ताकि आप दोनों में से किसी एक का खतरा कम हो जाए।
    • जरुरी नहीं कि टेस्ट हमेशा सही आये। इंफेक्शन होने के बाद भी कभी कभी टेस्ट को पॉजिटिव आने में समय लगता है।
    • यौन संचारित रोग के बारें में जानकारी रखें।
    • ओरल सेक्स से पहले गुप्तांगों को अच्छे से पानी से साफ़ करें।
    • सेक्स के दौरान हमेशा  कंडोम का इस्तेमाल करें।
    • किसी भी कंडीशन में पुराना, फटा हुआ या एक्सपायर्ड हो चुके कंडोम का इस्तेमाल न करें।
    • एक बार प्रयोग किया हुआ कंडोम दोबारा इस्तेमाल न करें। हमेशा नया कंडोम ही इस्तेमाल करें।
    • महिला कंडोम और पुरुष कंडोम एक साथ इस्तेमाल न करें।
    • कंडोम तभी असरदार होता है जब उन्हें सेक्स के शुरूआत से सम्भोग के ख़त्म होने तक पुरे समय इस्तेमाल किया गया हो।

इसे भी पढ़ें: इन सुपरफूड को अपने डाइट चार्ट में करें शामिल और बेहतर बनाएं अपनी सेक्स लाइफ को

रिपोर्ट: डॉ. हिमानी