शेयर करें
how to get a good personalities in your child

अपने बच्चे के व्यक्तित्व के निर्माण के लिए माता पिता को उसकी शिक्षा – दीक्षा, अच्छी आदतों तथा नैतिक मूल्यों के साथ – साथ अच्छे  संस्कारो को बचपन से ही उनके अंदर डालना आवशयक होता है, तभी युवा होकर वह एक अच्छा इंसान बनेगा। माता पिता द्वारा बचपन में ही की गई देखभाल और उचित सलाह बच्चे को उसके जीवन में स्वस्थ और सफल बनने की नींव प्रदान कर सकती है। देखा जाये तो बच्चों की देखभाल केवल गर्व में या तीन चार साल तक ही नहीं की जाती। हर उम्र में समय समय पर उनको उचित सलाह और देखभाल की जरुरत होती है।

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान डिप्रेशन से किस प्रकार करें बचाव

आइये जानते है किस प्रकार आप अपने बच्चे को स्वस्थ जीवन प्रदान कर सकते है :

  • बच्चो में माँ के गर्भ से ही खानपान की आदतों का सफर शुरू हो जाता है। बचपन में खानपान की जो आदतें बन जाती है वह हमारे जीवन में लम्बे समय तक चलती है अतः अच्छी आदतों को हमेशा अपने बच्चे में बचपन से ही डालने का प्रयास करना चाहिए। इन आदतों का असर बच्चो की सेहत पर काफी लंबे समय तक रहता है। इसलिाए माता-पिता को चाहिए की वह बच्चे को एहसास कराये की किस प्रकार का खाना उनको सेहतमंद बना सकता है। जंक फ़ूड और कोल्ड ड्रिंक जैसे खाद्य पदार्थो के अधिक उपयोग से होने वाले नुकसान से बच्चो को अवगत कराये।
  • यह जरुरी नहीं कि आप बच्चे के साथ पूरे समय रहें, लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए की आप जो भी समय बच्चे के साथ गुजारे वह समय बच्चे के लिए उत्कृष्ट होना चाहिए। आप अपने बच्चे के साथ थोड़ा ही समय क्यों न बिताये लेकिन उस समय में उनको यह एहसास कराये की आपका बच्चा आपके लिए कितना महत्वपूर्ण है। आप इस क्वॉलिटी टाइम में अपने बच्चे से उसकी दैनिक गतिविधि, उसके दोस्तों के बारे में, उनके मनपसंद टीवी प्रोग्राम्स के बारे या खेल के बारे में बात करके खुद को उनके करीब होने का एहसास दिलाये।
  • अपने बच्‍चे को आउटडोर गतिविधि के लिए हमेशा प्रेरित करें। रोजाना दिन में कुछ घंटे उसे बाहर खेलने के लिए जरूर भेजे । उनके साथ आप भी पार्क में जाकर खेल सकते है। यदि कुछ अधिक संभव न हो सके तब टहलना या जॉगिंग जैसी गतिविधियों में ही अपने बच्‍चे को शामिल करें। इसके अलावा आप बच्‍चे को डांस या अन्य पसंदीदा खेल कूद में भाग लेने को प्रोत्साहित करे। क्योकि बचपन में बनी यही आदते जवानी के दौर तक चलती है। इससे आगे चलकर बच्चे तनाव मुक्‍त रहते है और उनकी सेहत भी अच्‍छी रहती है।
  • आजकल के अधिकतर बच्‍चे बहुत सा वक्‍त टीवी और इंटरनेट पर बिताना पसंद करते है। जिसकी वजह से दिन का काफी समय वह यूं ही बैठे-बैठे गुजार देते है। इसके साथ ही बैठे-बैठे वे बहुत अधिक मात्रा में जंक फूड का भी सेवन करते हैं। जिससे उनकी पाचन क्रिया ख़राब होती है। और वे मोटापे के शिकार हो जाते है। जिसकी वजह से अनेक स्वास्थ से जुडी समस्याएं हो सकती है। अतः माता पिता को चाहिए की वह उनके टीवी देखने के समय पर नियंत्रण लगाए और साथ ही अधिक देर तक एक ही जगह पर बैठने न दे।

इसे भी पढ़ें: कैसे स्मार्टली अपने ऑफिस और बच्चों की परवरिश में सामंजस्य बैठाएं

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी