Home स्वास्थ्य टिप्स गिलोय का सेवन किस प्रकार करें और इसके फायदे क्या हैं?

गिलोय का सेवन किस प्रकार करें और इसके फायदे क्या हैं?

by Naina Chauhan
Published: Last Updated on
giloy

गिलोय देखने में जितना सुंदर लगता है इसके गुण भी उतने ही फादेमंद हैं। गिलोय का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों में किया जाता है। इसके अलावा ये एक बेहतरीन पावर ड्रिंक भी है। ये इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करता है, जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा मिलती है।

इसे भी पढ़ें: सुबह मूंगफली खाने से होगा ये फायदा

हममें से बहुत लोगों ने गिलोय की बेल देखी होगी लेकिन उसकी जानकारी अभाव में उसे पहचान नहीं पाए हों। गिलोय बेल के रूप में बढ़ती है और इसकी पत्त‍ियां पान के पत्ते की तरह होती हैं। इस बेल की खास बात हैं कि इसकी पत्त‍ियों में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसके तनों में स्टार्च की भी अच्छी मात्रा होती है।

गिलोय की बेल का इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों में किया जाता है। और ये एक बेहतरीन पावर ड्रिंक भी है। ये इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करता है, जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा मिलती है।

इसे भी पढ़ें: इन आसन की मदद से करें अपने मेटाबॉलिज्म को संतुलित

गिलोय के फायदे-

1. अगर किसी को एनीमिया है तो उसे गिलोय के पत्तों का इस्तेमाल करना चाहिए। गिलोय खून की कमी दूर करने में सहायक है। इसे घी और शहद के साथ मिलाकर लेने से खून की कमी दूर होती है।

2. अगर किसी को पीलिया हो गया है तो उन मरीजों के लिए गिलोय लेना बहुत ही फायदेमंद है। कुछ लोग इसे चूर्ण के रूप में लेते हैं तो कुछ इसकी पत्त‍ियों को पानी में उबालकर पीते हैं।

3. कुछ लोगों को पैरों में बहुत जलन होती है और कुछ ऐसे भी होते हैं जिनकी हथेलियां हमेशा गर्म रहती हैं। ऐसे लोगों के लिए गिलोय बहुत फायदेमंद है। गिलोय की पत्त‍ियों को पीसकर उसका पेस्ट तैयार कर लें और उसे सुबह-शाम पैरों पर और हथेलियों पर लगाएं।

इसे भी पढ़ें: किस प्रकार से करें पद्मासन योग

4. अगर आपके कान में दर्द है तो भी गिलोय की पत्त‍ियों का रस निकाल लें। इसे हल्का गुनगुना कर लें। इसकी एक-दो बूंद कान में डालें. इससे कान का दर्द ठीक हो जाएगा।

5. पेट से जुड़ी कई बीमारियों में गिलोय का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। इससे कब्ज और गैस की प्रॉब्लम नहीं होती है और पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है।

इसे भी पढ़ें: लहसुन और शहद के चमत्कारी लाभ जानते है आप ?

गिलोय का सेवन कैसे करें

गिलोय के पत्ते को साबुत चबाने के अलावा इसके डंठल के छोटे टुकड़े का काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं। इसे अन्य जड़ीबूटी के साथ मिलाकर भी प्रयोग करते हैं।