Home प्रेगनेंसी & पेरेंटिंग रात में अचानक उठकर रोने लगता है आपका बच्चा ? जाने क्या है कारण

रात में अचानक उठकर रोने लगता है आपका बच्चा ? जाने क्या है कारण

by Naina Chauhan
newbornbaby

वैसे तो हम सभी जानते हैं कि बच्चो का रात में रोना आम बात है। बच्चों को जब उनके मन मुताबिक चीजें नहीं मिलती तो वो रोने लगते हैं। आम भाषा में कहें तो बच्चे कुछ कहने की स्थिति में नहीं होते इसलिए वो रो कर अपनी बात आपको समझाने की कोशिश करते हैं। लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि आपका बच्चा आपसे कुछ कहना चाहे या फिर आपसे कुछ मांगना चाहे तभी वो रो रहा हो। बच्चे के रोने के पीछे कई सारे कारण हो सकते हैं। जिसे समझना आपके लिए बहुत जरूरी होता है। इसके साथ ही जरूरी ये भी हो जाता है कि बच्चे रात में अचानक उठ कर क्यों रोने लगते हैं।

इसे भी पढ़ें: बच्चों के लिए क्यों जरूरी है टीकाकरण ?

अगर आपके घर पर छोटा बच्चा है तो आपके लिए इस बात को जानना बहुत जरुरी है, कि रात में अक्सर उठ कर अचानक क्यों रोने लगता है, जिसके बाद आप उसे या तो किसी खेल में व्यस्त करने की कोशिश करते हैं या फिर आप उसे दूध पिलाते हैं। ऐसे में बच्चा चुप तो हो जाता है लेकिन कई बार बच्चे इन सब चीजों के बाद भी रोते रहते हैं। क्या आप इसकी वजह जानते हैं? अगर नहीं तो आइए हम इस बात को समझने की कोशिश करते हैं कि आखिरकार क्यों बच्चे रात में अचानक उठकर रोने लगते हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के बाद फिट रहने के लिए सही टिप्स

बच्चा जन्म के बाद अलग-अलग तरह के अनुभवों के साथ इस दुनिया को समझने लगता है। जिसकी वजह से कई बार बच्चों को असहज सा महसूस होने लगता है। अक्सर आपने देखा होगा जन्म के कुछ महीनों तक बच्चा सिर्फ नींद में ही रहता है। क्योंकि उनके लिए सबकुछ अलग सा होता है। और उन्हें इस दुनिया की चीजों को समझने में थोड़ा समय लगता है।

इसे भी पढ़ें: स्तनपान के दौरान ब्रेस्ट कम्प्रेशन के लाभ

भूख लगना-

newbabyborn

जब बच्चा जन्म लेता है तो बच्चों को ज्यादा से ज्यादा दूध की आदत हो जाती है, क्योंकि उस समय उनकी भूख को शांत करने का यह एक ही तरीका होता है। इसलिए जब भी बच्चों को भूख लगती है तो वो रोना शुरू कर देते हैं। ऐसा सबभी के साथ होता है जब बच्चा रोता है तो सबसे पहले बच्चे को दूध ही पिलाया जाता है। लेकिन इसके बाद उन्हें डकार दिलवाना बहुत जरूरी होता है।

शारीरिक परेशानियां-

newbornbaby

छोटे बच्चों को अक्सर गैस की समस्या ज्यादा रहती है। जिसकी वजह बच्चों के पेट में काफी दर्द रहने लगता है। ऐसे में इससे राहत देने के लिए उन्हें डकार दिलवाने की जरूरत होती है। वहीं आपको बता दें कि बच्चों को स्तनपान या बोतल से दूध पिलाते समय वो साथ में हवा को भी निगल जाते हैं। इसलिए ये जरूरी हो जाता है कि दूध पिलाने के बाद बच्चे को डकार दिलवाने बहुत जरूरी हो जाता है। इसके साथ ही आप उसे दूध पिलाने के बाद ही पेट की तरफ लेटाकर बच्चे की पीठ को मालिश करने से बच्चे को राहत मिलती है।

दांत निकलते समय दर्द होना-

newbaby


कई बार ऐसे होता है कि बच्चे रात में अचानक रोने लगते हैं और वो दूधभी नही पिते हैं। उस समय ऐसे में बच्चे के माता-पिता काफी परेशान रहते हैं कि बच्चा रात में इतना क्यों रो रहा है। जन्म के 4 महीने बाद बच्चे के दांत निकलने लगते हैं। जिसकी वजह से उन्हें काफी दर्द होता है। इस दर्द को दूर करने के बच्चों के मसूड़ों पर धीरे से मालिश कर सकते हैं। इसके साथ ही आप उन्हें कुछ ऐसी चीजें दे सकते हैं जिससे फ्रिज में ठंडा कर बच्चे के मसूड़ों की जलन को कम कर सके।

लेकिन इन सबके अलावा अगर बच्चा रोजाना रात में रोता रहे तो हो सकता है कि उसके शरीर के किसी हिस्से में परेशानी हो या फिर दर्द हो, इसके लिए आपको एक डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.