Home फिटनेस एक्यूपंक्चर विधि द्वारा करें अपना वजन नियंत्रित

एक्यूपंक्चर विधि द्वारा करें अपना वजन नियंत्रित

by Mahima
acupuncture

आज कल की अनियमित दिनचर्या के चलते हर तीसरा इंसान मोटापे की समस्या से जूझ रहा है। बढ़ता  वजन अनेकों प्रकार की बिमारियों को भी साथ लेकर आता है। मोटापा कम करने के लिए लोग डाइटिंग, जिमिंग और वर्कआउट के साथ साथ अनेकों प्रकार के उपाए अपनाते है जिसके चलते बहुत सी परेशानियों से भी उनकों जूझना पड़ता है। परन्तु बहुत से और भी उपायें है जिनको आप अपनाकर बिना किसी परेशानी के अपना वजन कम कर सकते है, जिनमें से एक एक्यूपंक्चर विधि है।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है लोबिया

एक्यूपंक्चर विधि प्राचीनकाल से ही अपनाई जाती है जिसके कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते हैं। एक्यूप्रेशर टेक्निक के जरिये आप अपने शरीर के कुछ प्वाइंट्स को दबा कर अपना मोटापा कम कर सकते हैं। इस विधि में  शरीर के कुछ प्लाइंट्स पर दवाब  डाला जाता है जिसके चलते आपकी भूख कंट्रोल होती है, जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ें: मानसिक व्यग्रता क्या है और इसके दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं ?

आइये जानते है  मोटापा घटाने वाले इन एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स के बारे में :

  • पैरों का एक्यूप्रेशर प्वाइंट : पैरों के टखने की हड्डी के पीछे की ओर जहां हड्डी खत्म होती हैं, वहां अपनी उंगुली और अंगूठे की मदद से लगातार 1 मिनट तक दबाएं। ऐसा रोजाना कम से कम 1 बार जरूर करें। इस प्वाइंट को दबाने से आपका डाइजेशन सिस्टम ठीक रहता है, जोकि आपके वजन को कंट्रोल करता है।
  • कान का एक्यूप्रेशर प्वाइंट : मोटापा कम करने के लिए ईयर केनाल के सामने मौजूद मांसल फ्लैप हिस्से को अपनी उंगलियों की मदद से लगभग 3 मिनट तक दबाएं। रोजाना इस प्वाइंट को दबाने से आपकी भूख कंट्रोल रहेगी और आप ओवरइंटिग से बच जाएंगे। इससे आपको वजन कम करने में मदद मिलेंगी।
  • अंगूठे का एक्यूप्रेशर प्वाइंट :  दोनो हथेलियों में अंगूठे के पास वाले उभरे भाग पर व्यक्ति की सहन क्षमता के अनुसार प्रेशर दें। दो मिनट के लिए यहां दबाव डालें और फिर छोड़ दें। इस विधि से भी आप अपने वजन को नियंत्रित कर सकते है।

नोट: इन बिंदुओं पर दबाब दे कर आप अपने आतों को नियत्रित कर  शरीर से अतिरिक्त नमी और गर्मी को बाहर निकालने में मदद पा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: इन घरेलु उपायों से पल भर में भगाएं माइग्रेन का दर्द

रिपोर्ट: डॉ.हिमानी

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.