Home हेल्थएनीमिया एनीमिया की रोकथाम के लिए फायदेमंद हैं ये विटामिन

एनीमिया की रोकथाम के लिए फायदेमंद हैं ये विटामिन

by Darshana Bhawsar
anemia

एनीमिया का सीधा अर्थ है शरीर में खून की कमी। खून की कमी के कारण कई प्रकार के रोग होते हैं जैसे एनीमिया, माइग्रेन, कैंसर इत्यादि। इसलिए शरीर में पूर्ण रूप से लौह तत्व का पहुँचना बहुत ही आवश्यक होता है। भोजन में हमेशा संतुलित आहार लेना चाहिए जिससे कि शरीर को सभी प्रकार के पौष्टिक आहार मिलते रहे और शरीर में ऊर्जा का प्रवाह बना रहे।

इसे भी पढ़ें: तेजी से कम होगा मोटापा और पेट की चर्बी, रोजाना 2 मिनट करें ये योगासन

एनीमिया की कमी को पूरा करने के लिए शरीर को बहुत से तत्व चाहिए होते हैं जैसे पत्तेदार सब्जियाँ, फोलिक एसिड युक्त आहार, आयरन, विटामिन ए एवं विटामिन सी। ये सभी शरीर में खून की कमी को पूरा करते हैं। शरीर में नियमित खून बनना बहुत जरुरी है और कोशिकाओं से शरीर के हर भाग में खून पहुँचना बहुत जरुरी है। जब यह खून बनना बंद हो जाता है या शरीर के हर भाग में खून सही प्रकार से नहीं पहुँचता तो कई प्रकार की बीमारियाँ होती हैं। और इसलिए कहा जाता है कि अगर आपको एनीमिया है तो आहार पर ध्यान देना बहुत ही जरुरी हो जाता है।

जब शरीर में खून की कमी होती है तो शरीर में हीमोग्लोबिन बनने की प्रक्रिया बहुत ही धीमी हो जा जाती है। और इसी की वजह से शरीर में खून की कमी हो जाती है। और यही एनीमिया कहलाता है। एनीमिया में संतुलित आहार लेना बहुत ही जरुरी माना जाता है। क्योकि खून की कमी को संतुलित आहार ही पूरा कर सकता है। अगर आप संतुलित आहर लेते हैं तो बहुत ही जल्दी खून की कमी को पूरा कर सकते हैं। अब बात आती है कि किस प्रकार का भोजन खून की कमी को पूरा कर सकता है।

  • एनीमिया को दूर करने के लिए आहार:
  • विटामिन ए:

विटामिन ए ऐसा विटामिन है जो पूर्ण रूप से वसा में घुलनशील होता है। एवं कुछ खाद्य पदार्थों में यह उपलब्ध होता है, आँखों के लिए एवं खून को बढ़ाने के लिए यह बहुत ही उपयोगी माना जाता है। इसके लिए आपको विटामिन ए युक्त आहार लेने होते हैं। विटामिन ए पाया जाता है गाजर, चुकंदर, शकरकंद, टमाटर, मटर, ब्रोकली, कद्दू, साबुत अनाज इत्यादि में। तो आप ये सभी आहार लेकर खून की कमी एवं विटामिन ए की कमी को पूरा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या आप भी अपनी पेट की बढ़ती चर्बी से हैं परेशान? तो इन तरीकों से दूर करें मोटापा

  • विटामिन सी:

जैसे विटामिन ए खून बनाने के लिए बहुत ही जरुरी है वैसे ही विटामिन सी भी एनीमिया को दूर करने के लिए लेना अनिवार्य है। यह पानी में घुलनशील होता है। यह मुख्य्तः नीबू एवं संतरे में पाया जाता है। वैसे तो विटामिन सी के कई स्त्रोत हैं जैसे: अंगूर, टमाटर, केला, नारंगी, कटहल, नींबू, पत्तागोभी, पालक, दूध, चुकंदर इत्यादि। इन सभी से शरीर में खून की कमी पूरी होती है और शरीर में विटामिन सी की मात्रा की कमी की भी पूर्ति होती है।

एनीमिया को दूर करने के लिए यह दोनों ही विटामिन लेना बहुत अनिवार्य हैं। इनसे शरीर को सभी पोषक तत्व मिल जाते हैं जिनसे आयरन की कमी पूरी होती है और शरीर को संतुलित आहार मिलता है। एनीमिया जैसे रोगों को दूर करने के लिए शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना होता है। अगर शरीर में खून नहीं है तो शरीर बेजान हो जाता है और शरीर में ऊर्जा नई बचती। इसलिए अगर आप एनीमिया के शिकार हैं तो आप इन कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें कि आपको क्या-क्या खाना है और किन चीज़ों से दूर रहना है।

इसे भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद मां और शिशु के लिए लाभकारी खाद्य पदार्थ

  • एनीमिया में इनसे रहे दूर:

अगर आपको एनीमिया रोग है तो आप इन चीज़ों को भूल कर भी न खाएँ न पियें। क्योंकि इनसे आपकी सेहत पर गलत असर पड़ सकता है। इन चीज़ों से परहेज रखें:

  • चाय एवं कॉफी:

चाय और कॉफ़ी सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छे नहीं माने जाते इनमें कैफीन की मात्रा बहुत अधिक होती है इसलिए इनसे दूर रहना चाहिए। अगर आपको एनीमिया है तो आप चाय और कॉफ़ी का सेवन बिल्कुल भी न करें। वैसे भी चाय और कॉफ़ी के कई नुकसान है इसलिए इनसे जितनी दूरी बनाये उतना आपके लिए अच्छा होगा।

  • चीनी का सेवन कम से कम करें:

चीनी सेहत के लिए हानिकारक होती है इसलिए चीनी का सेवन भी कम से कम करना चाहिए। मधुमेह जैसे रोगों में भी चीनी को बाध्य किया जाता है। इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि चीनी युक्त आहार अगर न लें तो बहुत ही अच्छा है या फिर बहुत ही कम मात्रा में चीनी लें। चीनी सेहत के लिए बिल्कुल भी उपयोगी नहीं होती। और एनीमिया के मरीजों को तो चीनी से दूर रहना चाहिए।

  • एनीमिया के मरीजों को करना चाहिए व्यायाम:

व्यायाम तो सभी के लिए बहुत अच्छा होता है मरीज हो या नहीं। इसलिए व्यायाम तो सभी को करना चाहिए। और अगर आपको कोई बीमारी है तो आप व्यायाम जरूर करें। व्यायाम में अगर आप योग करते हैं तो इससे अच्छा उपचार कोई नहीं है। योग में आप पॉवर योग और सूर्यनमस्कार जरूर करें। इनके कई ऐसे फायदे हैं जो चमत्कारिक हैं।

योग हर रोग का उपचार है हिंदुस्तान में कई अन्य देशों के लोग योग सीखने के लिए आते हैं। इससे लोगों को अनगिनत फायदे हुए हैं फिर चाहे एनीमिया जैसे रोग हों या फिर कैंसर जैसे। सभी रोगों का निदान योग से संभव है। इसलिए योग को अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: वजन कम करने के लिए आयुर्वेदिक घेरलू उपाय

एनीमिया ऐसी बीमारी है जिसका घरेलु उपचार भी संभव है लेकिन आपको इसके प्रति थोड़ा सा सतर्क रहना होगा और साथ ही आपको इसके लिए अपने आहार पर विशेष ध्यान देना होगा। तब ही जाकर आप एनीमिया से निजात पा सकते हैं। एनीमिया का समय रहते घरेलु उपचार कर लिया जाये तो यह परेशानी बढ़ेगी नहीं लेकिन अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो इससे कई प्रकार की समस्याएँ होना संभव है आप बताई गई सभी बातों पर ध्यान दें और साथ ही अपने आहार पर विशेष ध्यान दें।

वैसे भी अगर शरीर को उर्जावान रखना है तो उसमें सबसे बड़ा सहयोग भोजन का ही होता है इसलिए भोजन संतुलित और सही मात्रा में लेना अनिवार्य होता है। बहुत ज्यादा भोजन खाना भी सेहत के लिए हानिकारक होता है।