Home लाइफवास्तु टिप्स वास्तु के अनुसार घर में कौन से पौधे लगाना होता है शुभ

वास्तु के अनुसार घर में कौन से पौधे लगाना होता है शुभ

by Darshana Bhawsar
vastu tips

वास्तु शास्त्र दुनिया का एक प्राचीन विज्ञान है जिसमें दिशा निर्देशानुसार इमारतों का निर्माण किया जाता है और कहाँ कौन सी वस्तु होना चाहिए यह भी तय किया जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार जो भी कार्य इमारत निर्माण से लेकर सजावट के लिए किये जाते हैं उनसे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। आज हम बात करने जा रहे हैं वास्तु के अनुसार घर में किस प्रकार के पौधे और कौन से पौधे लगाना शुभ होता है। पेड़ पौधे भी वास्तु का ही एक अहम् हिस्सा है। पेड़ पौधों से भी घर में नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा आती है इसलिए कुछ पेड़-पौधे घर में लगाना शुभ माने जाते हैं और कुछ अशुभ।

इसे भी पढ़ें: सुबह नाश्ते में खाएं 1 सेब और 1 कटोरी ओट्स, दिल की बीमारियां रहेंगी दूर

वैसे तो कुछ लोगों का सोचना यह कि पेड़ तो सभी शुभ होते हैं लेकिन ऐसा नहीं है कुछ पेड़ पौधों को घर में लगाने से नकारात्मक ऊर्जा आती है और कुछ पेड़-पौधों को लगाने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। इसलिए घर में पेड़-पौधे भी वास्तु के अनुसार ही लगाना चाहिए जिससे घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित हो और घर में कभी किसी प्रकार की परेशानी न आये।

  • वास्तु के अनुसार घर लगाए जाने वाले पेड़-पौधे:
  • तुलसी:
vastu

वास्तु के अनुसार और पुराने शास्त्रों के अनुसार हम शुरुआत कर रहे हैं तुलसी के पौधे से। तुलसी का पौधा घर में होना ही चाहिए। घर में तुलसी का पौधा होने से घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। तुलसी का पौधा हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा में ही लगाएं। ऐसा माना जाता है कि घर के आंगन में तुलसी का पौधा अवश्य होना चाहिए। तुलसी के पत्तों के और भी कई लाभ हैं जैसे यह आयुर्वेद में दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। रोज सुबह तुलसी के पत्तों के सेवन से कई प्रकार के रोग दूर होते हैं।

  • गुलाब, गेंदा, चंपा, चमेली, मोगरा:

गुलाब, गेंदा, चंपा, चमेली, मोगरा ये सभी अगर आप घर में लगाना चाहते हैं तो इन्हें हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा में लगाना अनुकूल माना जाता है। इनकी महक से घर में सकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है। हिन्दू धर्म में इन पौधों का विशेष महत्व है। इन पौधों के फूलों से भी कई प्रकार की दवाएं बनायीं जाती है और सौंदर्य के लिए भी ये बहुत गुणकारी माने गए हैं।

  • अशोक:

अशोक का पेड़ घर में लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है। अशोक का पेड़ एक ऐसा पेड़ है जो घर में लगे हुए अन्य अशुभ पेड़-पौधों की अशुभता को भी दूर करता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है और कहते हैं कि अशोक के पेड़ की छाँव में नहाने से कई प्रकार के रोग भी दूर होते हैं।

  • केला:
vastu

केले को हिन्दू धर्म में पूजा पाठ के लिए प्रयोग किया जाता है इसके पत्तों को दक्षिण भारत में भोजन परोसने के लिए भी प्रयोग किया जाता है। लेकिन केले का पौधा हमेशा ईशान कोण में ही लगाना चाहिए। अगर केले का पौधा ईशान कोण में लगाया जाता है तो यह अपार फलदायी होता है। माना जाता है कि इसकी छाँव में अधययन करने से सफलता की प्राप्ति होती है।

  • नारियल:

नारियल का पौधा भी घर में लगाना शुभ माना जाता है इससे घर के प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिष्ठा और मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। यह एक उन्नतिकारी पेड़ माना जाता है। इसलिए इसे घर में लगाना चाहिए। वास्तु के अनुसार इससे घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बानी रहती है।

  • अनार:
vastu

अनार का पेड़ भी घर में लगाना शुभ माना जाता है। कई बार लोग ऐसा कहते हैं कि अनार का पेड़ घर में नहीं लगाना चाहिए। लेकिन वास्तु के अनुसार अनार का पेड़ घर में लगाना शुभ माना जाता है। बंजर जाति का अनार घर में नहीं लगाना चाहिए लेकिन फल देने वाला अनार का पौधा सकारात्मक ऊर्जा लता है। बंजर जाति का कोई भी पेड़ या पौधा घर में लगाना शुभ नहीं होता।

  • बेल:

बेल को बहुत से लोग बिल्व पत्र के नाम से जानते हैं यह भगवन शिव को चढ़ाया जाने एक फल भी है और इसी कारण से इसका महत्व और भी अधिक बड़ गया है। बेल का पेड़ घर में लगाना शुभ होता है और कई वर्षों तक घर में किसी भी प्रकार से धन संपत्ति की कमी नहीं आती साथ ही सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है।

  • नीम:
vastu

नीम भी एक ऐसा पेड़ है जो घर में लगाना शुभ माना जाता है। नीम का पेड़ घर में लगाने से घर में माँ शीतला का वास होता है। वास्तु के अनुसार घर में तीन नीम के पेड़ लगाना चाहिए। इससे घर में अपार सुख आते हैं और मृत्यु के बाद व्यक्ति को शिवलोक की प्राप्ति होती है। आयुर्वेद की दृष्टि से भी नीम के कई गुण हैं।

  • हरसिंगार:

हरसिंगार या पारिजात एक ऐसा पौधा है जिसे छूने मात्रा से सारी थकान दूर हो जाती है। मान्यता है कि समुद्र मंथन के दौरान जिन 14 रत्नों की उत्पत्ति हुई थी उनमें से 11 रत्न पारिजात था। और इसे देवी देवताओं का सबसे प्रिय फूल माना जाता है। जिस घर में हरसिंगार लगा होता है उसमें कभी भी दरिद्रता नहीं आती।

इसे भी पढ़ें: हार्ट अटैक आने के कारण, जानें कब और किस स्थिति में पड़ता है दिल का दौरा

  • बांस:

बांस को सुख और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। घर में बांस का पौधा सुख फलदायी होता है। बांस को घर के किसी भी हिस्से और दिशा में लगाया जा सकता है। इससे घर की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।

  • मनी प्लांट:

मनी प्लांट बहुत ही चर्चित पौधा या बेल है। मान्यता है कि इसे चुराकर ही लगाया जाता है। और जितनी लम्बी मनी प्लांट की बेल जाती है उतनी ही फलदायी होती है। मनी प्लांट को शुक्र ग्रह का करक माना गया है और इसके घर में होने से परिवारजनों के सम्बन्ध मधुर बने रहते हैं। लेकिन बहुत अधिक बड़े पत्तों वाला मनी प्लांट घर में नहीं होना चाहिए।

ये सभी पौधे घर में लगाना शुभ फलदायी होते हैं ऐसे कई और भी पौधे हैं जिन्हें घर में लगाना शुभ होता है जैसे चंपा, नीबू, अमरुद, आम इत्यादि। लेकिन इन पौधों को लगाने के लिए दिशा का पता होना अनिवार्य है हर दिशा में ये पौधे नहीं फलते। इसके लिए आप किसी वास्तु शास्त्री की मदद ले सकते हैं।

  • वास्तु के अनुसार कौन से पौधे घर में नहीं लगाने चाहिए:
  • केक्टस:

यह एक कांटेदार पौधा है और इसे घर में लगाना अशुभ माना जाता है लोग इसे सजावट के तौर पर लगते हैं। लेकिन इस प्रकार के कांटे वाले और दूध वाले पौधों को घर में कतई नहीं लगाना चाहिए। कांटेदार पेड़ों में नीबू और गुलाब का पौधा एक अपवाद हैं इन्हें घर में लगाया जाता है। इनके अलावा कोई कांटे वाला पौधा घर में नहीं होना चाहिए।

  • पीपल:

पीपल का पेड़ अधिकतर हमने मंदिरों में ही देखा होता है क्योंकि इस पेड़ को घर में लगाना शुभ नहीं होता है। कहा जाता है इस पेड़ में नकारात्मक ऊर्जा होती है लेकिन अगर ये मंदिर में या घर के बाहर है तो इसकी नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है। अगर घर में कहीं भी पीपल का पौधा उग भी रहा हो तो उसे कटवा देना चाहिए।

  • महेंदी:

महेंदी का पेड़ भी कभी घर में नहीं लगा हुआ होना चाहिए क्योंकि महेंदी से भी घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है और ऐसी नकारात्मक ऊर्जा जो परिवार को तहस नहस कर देती है। इसलिए भूलकर भी महेंदी का पौधा न ही घर में लाएं और न ही इसे लगाने का प्रयास करें। यह बहुत ही अशुभ पौधा होता है।

इसे भी पढ़ें: बच्चों में क्यों बड़ रहा है दिल की बीमारी का खतरा

  • कटहल:

कटहल भी एक ऐसा पेड़ है जिसे घर में नहीं लगाना चाहिए। जिस घर में कटहल का पेड़ होता है उस घर में दिन रात कलह होती रहती है और संतोष पसरा रहता है। कहते हैं कि कटहल का पेड़ आसानी से घर में लगता भी नहीं है इसे लगाने के लिए व्यक्ति को अपने खून की कुछ बूंदें डालनी होती है। इस प्रकार की कई मान्यताएं कटहल के लिए हैं। वास्तु के दृष्टि से भी यह एक अशुभ पेड़ है।

  • बरगद:

बरगद का पेड़ भी घर में नहीं होना चाहिए इससे भी घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है। बरगद का पेड़ घर के हमेशा बाहर ही होना चाहिए। अगर घर में बरगद का पेड़ होता है तो वह घर को खण्डर कर देता है। परिवार को कई प्रकार की परेशानियों से गुजरना पड़ता है और घर बर्वाद हो जाता है।

  • बेर:

बेर भी घर की सीमा के बाहर होना चाहिए क्योंकि यह भी एक कांटे वाला पेड़ है यह फल तो देता है लेकिन इससे दुश्मनों की संख्या बड़ जाती है और घर में असंतोष की स्थिति बन जाती है। इसलिए बेर को कभी भी घर में नहीं लगाना चाहिए। यह पेड़ नकारात्मक ऊर्जाओं से भरा हुआ होता है।

  • दक्षिण दिशा में नहीं लगाएं कोई भी पेड़-पौधा:

घर की दक्षिण दिशा में कोई भी पेड़-पौधा नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में कई प्रकार की परेशानियाँ प्रवेश करती हैं और घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है। जब भी कोई पेड़ या पौधा लगाए इस बात का विशेष ध्यान रखें कि कहीं यह दिशा दक्षिण दिशा तो नहीं है। या किसी वास्तु शास्त्री की इसमें सहायता लें।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.